Home दुनिया दक्षिण एशिया कश्मीर मुद्दे पर समर्थन पाने को बैचेन पाक ने अमेरिकी सीनेटर्स का पीओके में दौरा करवाया

कश्मीर मुद्दे पर समर्थन पाने को बैचेन पाक ने अमेरिकी सीनेटर्स का पीओके में दौरा करवाया

आउटलुक टीम - OCT 06 , 2019
कश्मीर मुद्दे पर समर्थन पाने को बैचेन पाक ने अमेरिकी सीनेटर्स का पीओके में दौरा करवाया
कश्मीर मुद्दे पर समर्थन पाने को बैचेन पाक ने अमेरिकी सीनेटर्स का पीओके में दौरा करवाया
आउटलुक टीम

भले ही पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका सहित अधिकांश देशों से कोई समर्थन नहीं मिला है। लेकिन वह इस मुद्दे को गरम रखने का भरसक प्रयास कर रहा है। अमेरिकी सरकार ने भारत के रुख का समर्थन किया है। लेकिन अमेरिकी कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने आज पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) का दौरा किया और भारद द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद जमीनी हालात का जायजा लिया और वहां के लोगों की प्रतिक्रिया समझने का प्रयास किया।

दो सीनेटर मुजफ्फराबाद पहुंचे

सीनेटर क्रिस वैन होलेन और मेगी हसन और पाकिस्तान में अमेरिका के प्रभारी राजदूत पॉल जोंस ने पीओके की राजधानी मुजफ्फराबाद का दौरा किया। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा है कि इस दौरे का उद्देश्य पांच अगस्त को भारत के फैसले के बाद जमीनी वास्तविकता दिखाना और जन भावना के बारे में बताना था। दावा किया गया कि कश्मीर में पांच अगस्त के बाद से जनजीवन प्रभावित है।

पाक को नहीं मिला अंतरराष्ट्रीय समर्थन

केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। पाकिस्तान ने इस फैसले पर नाराजगी जताते हुए भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया। तभी से पाकिस्तान भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समर्थन पाने का प्रयास कर रहा है। लेकिन उसे इसमें कोई सफलता नहीं मिली।

पीओके नेताओं से मिले सीनेटर

पाक विदेश कार्यालय के अनुसार अमेरिकी सीनेटर्स ने कहा कि उन्होंने मानवाधिकार का मुद्दा उठाया है और आगे भी वह भारत से कर्फ्यू हटाने और नेताओं को रिहा करने की अपील करते रहेंगे। अमेरिकी सीनेटर्स ने पीओके के नेताओं सरदार मसून खान और रजा फारूक हैदर से भेंट की। उन्होंने अमेरिकी सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अनुसार जम्मू कश्मीर मुद्दा सुलझाने के लिए भारत पर दबाव डालने की मांग की। हालांकि भारत का हमेशा कहना रहा है कि कश्मीर उसका द्विपक्षीय मसला है। इसमें तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से