Home दुनिया दक्षिण एशिया पुलवामा हमले पर बोला पाक, भारत ने जिन 22 जगहों के बारे में बताया, वहां कोई आतंकी कैंप नहीं

पुलवामा हमले पर बोला पाक, भारत ने जिन 22 जगहों के बारे में बताया, वहां कोई आतंकी कैंप नहीं

आउटलुक टीम - MAR 28 , 2019
पुलवामा हमले पर बोला पाक, भारत ने जिन 22 जगहों के बारे में बताया, वहां कोई आतंकी कैंप नहीं
पुलवामा हमले पर बोला पाक
File Photo
आउटलुक टीम

पुलवामा हमले को लेकर पाकिस्तान ने एक बार फिर भारत के सबूतों को ये कहते हुए खारिज कर दिया है कि सबूत पर्याप्त नहीं हैं। पाकिस्तान ने कहा है कि भारत ने पुलवामा आतंकी हमले को लेकर जो डोजियर सौपा था, उसकी जांच के बाद हमें ऐसा कुछ नहीं मिला, जिससे ये माना जा सके कि हमले के पीछे पाकिस्तान समर्थित संगठनों का हाथ है।

पुलवामा हमले से कोई संबंध नहीं निकला

पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि भारत ने पाकिस्तान को जो डोजियर सौंपा था, उसमें 22 आतंकी ठिकानों के लोकेशन थे, लेकिन पाकिस्तान ने ये कहते हुए नकार दिया कि हमने सभी जगहों का दौरा किया। वहां ऐसे कोई शिविर नहीं मिले, जिससे वहां आतंकी ठिकानों की पुष्टि हो सके। पाकिस्तान ने दावा करते हुए कहा है कि हमले को लेकर 54 लोगों से पूछताछ भी की गई, लेकिन उनका भी पुलवामा हमले से कोई संबंध नहीं निकला।

भारत ने पाकिस्तान को जैश-ए-मुहम्मद के खिलाफ दिया था डोजियर

बता दें कि पुलवामा हमले को लेकर भारत सरकार ने 27 फरवरी को पाकिस्तान को जैश-ए-मुहम्मद के खिलाफ डोजियर दिया था। पाकिस्तान के अनुसार इस डोजियर में भारत ने जिन 22 स्थानों पर आतंकवादी कैंप होने की बात कही हैं, वहां ऐसा कोई कैंप नहीं है।

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा है कि पाकिस्तान भारत के अनुरोध पर इन जगहों का दौरा करने की इजाजत दे सकता है। पाकिस्तान ने कहा, 'हिरासत में लिए गए 54 लोगों की जांच की जा रही है, अबतक उनके पुलवामा हमले से जुड़े होने का कोई विवरण नहीं मिला है।'

बताई गईं जगहों पर नहीं मिले आतंकी कैंप

पाकिस्तानी विदेश कार्यालय ने आगे कहा, 'इसी तरह, भारत की तरफ से बताई गईं 22 प्रमुख जगहों की जांच की गई है। इस तरह के कोई कैंप नहीं मिले। पाकिस्तान अनुरोध किए जाने पर इन जगहों के दौरे की इजाजत दे सकता है।' पाकिस्तान ने कहा कि वह सहयोग की प्रतिबद्धता के रुख पर कायम है और उसने बुधवार को भारत के साथ 'शुरुआती जांच नतीजे' को कुछ सवालों के साथ साझा किया है।

पुलवामा हमले में शहीद हो गए थे 40 जवान

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ की गाड़ी पर आत्मघाती हमला हुआ था। हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने ली थी। जिसका सरगना आतंकी मसूद अजहर भारत पर हुए इस हमले के बाद देशभर में गुस्से का माहौल था। लोग सरकार पर पाकिस्तान पर कार्रवाई के लिए सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे थे। हमले में आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद पर कारवाई को लेकर भारत सरकार ने पाकिस्तान को डोजियर सौंपा था।

पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में किया था एयर स्ट्राइक

14 फरवरी को पुलवामा मे आतंकि हमला हुआ था जिसके 12 दिन बाद ही भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के ठिकाने पर हमला किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस हमले में लगभग 300 आतंकियों के मारे गए थे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से