Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय अमेरिका ने हांगकांग को रक्षा उपकरण-निर्यात पर लगाई रोक, कहा- आ रहे हैं नए नियम

अमेरिका ने हांगकांग को रक्षा उपकरण-निर्यात पर लगाई रोक, कहा- आ रहे हैं नए नियम

आउटलुक टीम - JUN 30 , 2020
अमेरिका ने हांगकांग को रक्षा उपकरण-निर्यात पर लगाई रोक, कहा- आ रहे हैं नए नियम
अमरिका ने हांगकांग को रक्षा उपकरणों के निर्यात पर लगाई रोक, कहा- आ रहे हैं नए नियम
आउटलुक टीम

भारत के बाद 59 चीनी ऐप पर बैन लगाने के बाद अब अमेरिका ने भी चीन को झटका दिया है। अमेरिका ने चीन के हॉन्‍ग कॉन्‍ग को लेकर राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून लाए जाने की घोषणा के बाद अब अमेरिकी मूल अत्‍याधुनिक रक्षा उपकरणों और तकनीकों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने इन प्रतिबंधों का ऐलान किया।

दरअसल, ट्रंप प्रशासन ने सोमवार को कहा कि यह हांगकांग को रक्षा निर्यात को रोक देगा और जल्द ही हांगकांग को उन वस्तुओं की बिक्री के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होगी, जिनमें नागरिक और सैन्य सामान दोनों होंगे। विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने इस कदम की घोषणा की क्योंकि चीन हांगकांग के लिए एक नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने के साथ आगे बढ़ा है।

प्रशासन ने हफ्तों के लिए चेतावनी दी है कि वह विशेष अमेरिकी व्यापार और वाणिज्यिक वरीयताओं को समाप्त करने के लिए कदम उठाएगा, जो 1997 में चीनी शासन को खत्म किए जाने के बाद से हांगकांग के लिए चल रहा था। उन भत्तों में हांगकांग के लिए अमेरिकी रक्षा उपकरण आयात करने की क्षमता थी जो चीन को अनुमति नहीं है। हांगकांग भी मुख्य भूमि चीन के लिए समान बिक्री के लिए लाइसेंस प्राप्त किए बिना दोहरे उपयोग वाली अमेरिकी वस्तुओं का आयात करने में सक्षम था।

पोम्पियो ने एक बयान में कहा, 'संयुक्त राज्य अमेरिका, राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा के लिए यह कदम उठाने के लिए मजबूर है। पोम्पियो ने कहा कि हम अब यह भेद नहीं करेंगे कि ये उपकरण हॉन्‍ग कॉन्‍ग को निर्यात किए जा रहे हैं या चीन को। हम इस बात का खतरा नहीं उठा सकते हैं कि ये उपकरण और तकनीक चीन की सेना पीपल्‍स लिबरेशन के पास पहुंच जाएं जिसका मुख्‍य मकसद कम्‍युनिस्‍ट पार्टी की तानाशाही को किसी भी प्रकार से बनाए रखना है।

चीन ने वीजा प्रतिबंध लगाने की दी चेतावनी

उधर, चीन ने सोमवार को कहा कि वह हॉन्‍ग कॉन्‍ग से संबंधित मुद्दों पर 'गलत रुख' दिखाने वाले अमेरिकी अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाएगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने अपनी दैनिक ब्रीफिंग में इसकी घोषणा की, लेकिन उन्‍होंने विस्तृत जानकारी नहीं दी। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इस कदम से केवल अमेरिकी सरकार के अधिकारियों को निशाना बनाया जाएगा या फिर निजी क्षेत्रों के अधिकारी भी निशाने पर होंगे। बता दें कि चीन ने यह बात ऐसे समय में कही है जब मंगलवार को उसके द्वारा हॉन्‍ग कॉन्‍ग के लिए लाए गए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को मंजूरी मिलने की पूरी संभावना है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से