Home » दुनिया » अंतरराष्ट्रीय » फिलीपींस: धान के खेत में फावड़ा चलाते नजर आए पीएम मोदी, देखें तस्वीरें

फिलीपींस: धान के खेत में फावड़ा चलाते नजर आए पीएम मोदी, देखें तस्वीरें

NOV 13 , 2017

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों आसियान समिट 2017 में हिस्सा लेने के लिए मनीला दौरे पर हैं। फिलिपींस की राजधानी मनीला में सोमवार को आसियान समिट का उद्घाटन हुआ, जिसमें नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प समेत एशियाई देशों के कई राष्ट्राध्यक्ष शामिल हुए। इसके बाद पीएम मोदी ने लॉस बेनोस स्थित इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट (IRRI) का दौरा किया। बता दें कि इस इंस्टीट्यूट की एक शाखा जल्द ही पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी खुलने वाली है।

Advertisement

लॉस बेनोस में अपने नाम पर बनी ‘श्री नरेंद्र मोदी रेजिलिएंट राइस फील्ड लेबोरेटरी’ का उद्घाटन करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...  

उद्घाटन के बाद एक फोटो प्रदर्शनी देखते पीएम मोदी....

इस प्रदर्शनी के अंतर्गत धान की खेती के साथ वाराणसी में खुलने वाली शाखा के बारे में विस्तार से जानकारी लेते पीएम मोदी...

आईआरआरई में कार्यरत कई भारतीय वैज्ञानिकों से मुलाकात करते नरेंद्र मोदी....

फिलीपींस में धान की खेत में खेती करते पीएम मोदी....

आईआरआरआई को दो भारतीय चावल के बीज की किस्मों भेंट करते पीएम मोदी.... 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर कहा कि आईआरआरआई धान जैसे एक महत्वपूर्ण अन्न की खेती में सुधार करके गरीबी और भूखमरी को कम करने की दिशा में बड़ा काम कर रहा है। इस दौरान आईआरआरआई के वैज्ञानिकों ने प्रधानमंत्री मोदी को बाढ़ की स्थिति में भी टिके रहने वाले का प्रकोप झेल में समर्थ लेने वाले धान की किस्मों के बारे में बताया, जो कि 14 से 18 दिनों तक पानी में डूबे रहने के बावजूद बची रह सकती है। इनकी खेती से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में धान की 1-3 टन प्रति हेक्टेयर अधिक उपज ली जा सकती है।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट में लिखा, आईआरआरआई को भारत की ओर से योगदान... आईआरआरआई के जीन बैंक को धान की दो किस्मों के बीज दिए। उन्होंने कहा, आईआरआरआई की मेरी यात्रा सीखने के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण थी। आईआरआरआई धान की खेती में सुधार करके गरीबी और भूखमरी को कम करने की दिशा में काम कर रहा है। इसके काम से एशिया और अफ्रीका के किसानों और उपभोक्ताओं को लाभ मिल रहा है।

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आईआरआरआई का क्षेत्रीय केंद्र स्थापित कर रही है।

 

 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.