Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय जी-20 समिट में मिले पीएम मोदी और ट्रंप, ईरान पर हुई बात लेकिन रूस को लेकर बनाई दूरी

जी-20 समिट में मिले पीएम मोदी और ट्रंप, ईरान पर हुई बात लेकिन रूस को लेकर बनाई दूरी

आउटलुक टीम - JUN 28 , 2019
जी-20 समिट में मिले पीएम मोदी और ट्रंप, ईरान पर हुई बात लेकिन रूस को लेकर बनाई दूरी
जी-20 समिट में पीएम मोदी-ट्रंप के बीच 5जी और ईरान से लेकर रक्षा संबंधों पर हुई बात
twitter
आउटलुक टीम

जापान के ओसाका में शुरू हो रहे दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच बातचीत हुई। दोनों नेताओं के बीच बातचीत के प्रमुख मुद्दे ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध, रक्षा और व्यापार रहे। उनके साथ विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मौजूद दिखे। बता दें कि ओसाका आने से पहले ट्रंप ने अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाए गए टैरिफ को लेकर नाखुशी जाहिर की थी।

इससे पहले मोदी, ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच मुलाकात हुई थी। इन तीनों के बीच लगभग 20 मिनट तक बातचीत हुई थी। इस मौके पर ट्रंप ने पीएम मोदी को लोकसभा चुनावों में जीत के लिए बधाई भी दी।

'हम काफी अच्छे दोस्त बन गए हैं, हमारे देश कभी इतने करीब नहीं रहे

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप के साथ बैठक के मुद्दों के बारे में बताया, 'इस मीटिंग में हम 4 मुद्दों पर बात करेंगे, ईरान, 5जी, हमारे द्विपक्षीय संबंध और रक्षा संबंध।' वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, 'हम काफी अच्छे दोस्त बन गए हैं, हमारे देश कभी इतने करीब नहीं रहे। मैं यह बात पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं। हम रक्षा समेत कई क्षेत्रों में एक साथ काम करेंगे। हम आज व्यापार पर भी बातचीत करेंगे।' 

'आप आम चुनावों में जीत डिजर्व करते थे

वहीं, आम चुनावों में पीएम मोदी की शानदार जीत पर ट्रंप ने कहा, 'आप (आम चुनावों में जीत) डिजर्व करते थे। आपने काफी शानदार काम किया है। मुझे याद है कि जब आप पहली बार प्रधानमंत्री बने थे तब कई सारे धड़े थे जो एक-दूसरे के साथ लड़ाई में थे, लेकिन इस बार वे साथ थे। यह आपके और आपकी क्षमता के लिए शानदार उपलब्धि है।'

अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाया जाने वाला टैरिफ 'अस्वीकार्य' है

इससे पहले ट्रंप ने कहा था कि उन्‍हें अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाया जाने वाला टैरिफ 'अस्वीकार्य' है और उसे वापस लिया जाना चाहिए। जापान के ओसाका में जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक से पहले उन्होंने यह बात कही थी। ट्रंप ने गुरुवार की सुबह ट्वीट किया, 'मैं प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी से इस संबंध में बात करना चाहता हूं कि भारत ने वर्षों से अमेरिका के खिलाफ ऊंचा शुल्क लगा रखा है और हाल के दिनों में उसे और बढ़ा दिया है। यह अस्वीकार्य है और शुल्क को निश्चित रूप से वापस लिया जाना चाहिए।'

गौरतलब है कि नीरव मोदी, विजय माल्या और मेहुल चोकसी जैसे भगोड़े कारोबारियों ने ब्रिटेन और एंटीगुआ जैसे देशों में शरण ले रखी है। माल्या और नीरव के भारत प्रत्यर्पण का मामला ब्रिटेन की अदालत में लंबित है, जबकि चोकसी एंटीगुआ में है। तीनों कारोबारियों पर भारतीय बैंकों को हजारों करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप है। 

भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने मोदी और आबे के बीच हुई इस मुलाकात की मीडिया को जानकारी दी। गोखले के मुताबिक, दोनों नेताओं ने भगोड़े आर्थिक अपराधी, रक्षा, इन्फ्रास्ट्रक्चर, आतंकवाद, आपदा प्रबंधन, वैश्विक अर्थव्यवस्था, स्टार्टअप और डिजिटल इकोनॉमी पर चर्चा की। इस दौरान दोनों द्विपक्षीय संबंधों पर भी वार्ता की। मोदी ने पूर्वोत्तर भारत में इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं में जापान के काम की तारीफ की। उन्होंने आपदा प्रबंधन में जापान से सहयोग मांगा।

दोबारा पीएम बनने पर मोदी को मिली बधाई

पीएम मोदी की सत्ता में दोबारा वापसी के बाद आबे के साथ उनकी यह पहली मुलाकात है। दोबारा सत्ता संभालने के लिए बधाई देने पर मोदी ने आबे को धन्यवाद दिया। मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन और अन्य नेताओं से मुलाकात करेंगे।

सम्राट के राज्याभिषेक में शिरकत करेंगे राष्ट्रपति कोविंद

मोदी के साथ एक भारतीय प्रतिनिधिमंडल भी यहां पहुंचा है, जिसका नेतृत्व पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु कर रहे हैं। पीएम मोदी ने जापानी प्रधानमंत्री आबे के साथ मुलाकात के दौरान कहा कि भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जापान के नए सम्राट के राज्याभिषेक समारोह में शिरकत करेंगे। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से