Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय पाक: नवाज शरीफ ने सेना प्रमुख बाजवा पर साधा निशाना, कहा- आपने मेरी सरकार गिराई

पाक: नवाज शरीफ ने सेना प्रमुख बाजवा पर साधा निशाना, कहा- आपने मेरी सरकार गिराई

आउटलुक टीम - OCT 17 , 2020
पाक: नवाज शरीफ ने सेना प्रमुख बाजवा पर साधा निशाना, कहा- आपने मेरी सरकार गिराई
पाक: नवाज शरीफ ने सेना प्रमुख बाजवा पर साधा निशाना, कहा- आपने मेरी सरकार गिराई
पीटीआइ
आउटलुक टीम

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने शनिवार को देश के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा पर उनकी सरकार को गिराने का आरोप लगाया। उन्होंने सेना प्रमुख पर न्यायापालिका पर दवाब बनाने और 2018 के चुनाव में वर्तमान की इमरान खान सरकार को स्थापित करने का भी आरोप लगाया।

शरीफ ने यह बातें लंदन से वीडियो लिंक के माध्यम से विपक्षी दलों द्वारा आयोजित हजारों लोगों की एक सभा में कहीं। पाकिस्तान की इमरान खान सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए पूर्वी शहर गुजरांवाला में देशव्यापी विरोध अभियान की शुरुआत की गई है।

शरीफ ने इस सभा में कहा, ‘जनरल कमर जावेद बाजवा, आपने हमारी सरकार को सत्ता से बेदखल कर दिया, जो अच्छी तरह से काम कर रही थी और देश और राष्ट्र को अपनी इच्छा के अनुसार बदल दिया।’ 2018 के चुनाव के बाद हुई यह सबसे बड़ी सभा थी। पूर्व प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान की इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के प्रमुख पर उनकी सरकार के खिलाफ साजिश रचने में शामिल होने का भी आरोप लगाया।

नौ प्रमुख विपक्षी दलों ने सरकार के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन शुरू करने के लिए पिछले महीने पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) नामक एक संयुक्त मंच का गठन किया है। शरीफ, जिनकी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) मुख्य विपक्षी पार्टी है, को 2017 में उच्चतम न्यायालय ने भ्रष्टाचार के आरोप में बर्खास्त कर दिया था। वे चिकित्सा उपचार के लिए नवंबर में लंदन के लिए रवाना हो गए थे।

पाकिस्तानी सेना ने राजनीति में किसी भी तरह के हस्तक्षेप की बात को नकारा है। शरीफ की बेटी मरियम नवाज और बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो ने भी सभा को संबोधित किया। दोनों ने खान सरकार की आलोचना की। उन्होंने उनपर खराब शासन और अर्थव्यवस्था का कुप्रबंधन करने का आरोप लगाया।

खान सरकार के खिलाफ विरोध ऐसे समय पर हो रहा है जब पाकिस्तान आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। इसकी मुद्रास्फीति दो अंकों के साथ नकारात्मक पर पहुंच गई है। सभा के वक्ताओं ने खान के इस्तीफे और राजनीति में सैन्य हस्तक्षेप को समाप्त करने का आह्वान किया। देश में 2023 में आम चुनाव होने हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से