Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय फ्रांस ने गांधार और सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी चोरी हुई 500 प्राचीन वस्तुएं पाक को सौंपी

फ्रांस ने गांधार और सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी चोरी हुई 500 प्राचीन वस्तुएं पाक को सौंपी

JUL 09 , 2019
फ्रांस ने गांधार और सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी चोरी हुई 500 प्राचीन वस्तुएं पाक को सौंपी
फ्रांस ने गांधार और सिंधु घाटी सभ्यता से जुड़ी प्राचीन वस्तुएं पाक को सौंपी

फ्रांस ने चोरी हुईं करीब 500 प्राचीन पुरावशेष, कलाकृतियां और वस्तुएं पाकिस्तान को लौटा दी हैं। इन प्राचीन वस्तुओं में प्रतिमाएं, पात्र आदि शामिल हैं। इनमें से कई वस्तुएं ईसा से पूर्व की दूसरी और तीसरी सहस्राब्दी की हैं जब वहां गांधार, सिंधु और मेहरगढ़ की सभ्यताएं होती थीं।

पेरिस हवाई अड्डे पर बरामद हुई थीं चोरी हुई वस्तुएं

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा कि 512 प्राचीन वस्तुएं चोरी करने के तस्करी के रास्ते पाकिस्तान से ले जाई गई थीं। इन वस्तुओं को 2006-207 के बीच फ्रांस के कस्टम विभाग ने पेरिस हवाई अड्डे पर बरामद किया था।

पाकिस्तान ने पेचीदा प्रक्रिया के बाद हासिल कीं

पाक के विदेश कार्यालय के अनुसार इन वस्तुओं के मूल देश के सत्यापन और पेचीदा तथा लंबी कानूनी एवं प्रशासनिक औपचारिकताएं पूरी होने के बाद 486 पुरातात्विक वस्तुएं फ्रांस सरकार द्वारा दो जुलाई को पाकिस्तान के पेरिस में दूतावास को सौंपी गई। पाक के विदेश कार्यालय न कहा कि पाकिस्तान दुनिया की सबसे प्राचीन सभ्यताओं का उद्भव स्थल रहा है। इन सभ्यताओं में गांधार, सिंधु और मेहरगढ़ भी शामिल हैं और यहां प्राचीन और पुरातात्विक वस्तुएं जहां-तहां मिलती हैं। पाक के विदेश मंत्री शाह मसूद कुरेशी ने अपने मंत्रालय और संबंधित देशों के दूतावासों को निर्देश दिया था कि वे पाकिस्तान की जब्त की गई चोरी की वस्तुओं को पाने और वापस भेजने के लिए संबंधित सरकारों के साथ बातचीत करें।

पेरिस में एक समारोह में सौंपी गई वस्तुएं

फ्रांस के मिनिस्ट्री ऑफ एक्शन एंड पब्लिक एकाउंट्स के तहत डायरेक्टर जनरल (कस्टम्स एंड इनडायरेक्ट राइट्स) रोडोल्फ गिंट्ज ने एक सादा समारोह में ये दुर्लभ और कीमती वस्तुएं फ्रांस में पाकिस्तान के दूतावास हो सौंपीं। इस दौरान फ्रांस के संबंधित मंत्रालयों के अधिकारी और सांस्कृतिक और पुरातात्विक संस्थानों और संग्रहालयों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से