Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय चीन में कोरोना वायरस से मरने वालो की संख्या 361 पहुंची, हुबेई में अभी भी 100 भारतीय फंसे

चीन में कोरोना वायरस से मरने वालो की संख्या 361 पहुंची, हुबेई में अभी भी 100 भारतीय फंसे

आउटलुक टीम - FEB 03 , 2020
चीन में कोरोना वायरस से मरने वालो की संख्या 361 पहुंची, हुबेई में अभी भी 100 भारतीय फंसे
चीन में कोरोना वायरस से मरने वालो की संख्या 361 पहुंची, हुबेई में अभी भी 100 भारतीय फंसे
आउटलुक टीम

चीन में कोरोना वायरस से होने वाली मौत का आंकड़ा 361 पहुंच गया है। अकेले रविवार को 57 लोगों की मौत हो गई। सोमवार को चीनी अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार चीन में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा 17205 पहुंच चुका है। इसके पहले बढ़ते मामले को देखते हुए भारत ने भारत ने चीन से आने वाले चीनी नागरिकों और विदेशियों के लिए ई-वीजा सुविधा अस्थाई रूप से बंद कर दी है।  यह वायरस भारत, अमेरिका सहित 25 देशों में फैल चुका है। उधर, चीन के वुहान में कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए वहां फंसे भारतीयों के दूसरे दल को इयर इंडिया का विशेष विमान वापस ले आया। इस दूसरी खेप में 323 भारतीयों और मालदीव के सात नागरिकों को भारत लाया गया। अब तक भारत 654 लोगों को चीन से वापस ला चुका है।

जारी हो चुके ई-वीजा भी रद्द

चीन में भारतीय दूतावास ने घोषणा की है कि हाल की घटनाओं को देखते हुए भारत ने ई-वीजा की सुविधा अस्थाई रूप से निलंबित कर दी है। यह फैसला तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है। यह फैसला चीन के नागरिकों और चीन में रह रहे विदेशी नागरिकों पर लागू होगा। जिन लोगों को ई-वीजा जारी किया जा चुका है, उनके भी वीजा रद्द कर दिए गए है। जिन लोगों को भारत जाना बहुत जरूरी है, वे लोग बीजिंग, शंघाई अथवा गुआंगजाऊ स्थित दूतावास या वाणिज्य दूतावास में वीजा के लिए आवेदन कर सकते है।

323 और भारतीय वापस दिल्ली पहुंचे

एयर इंडिया के बी747 विमान की दो फ्लाइटें चीन के वुहान शहर में पहुंची। कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा संक्रमण वहीं फैला है। इससे 361 लोगों की मौत हो चुकी है और 17205 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वुहान से भी यह वायरस दुनिया के 25 देशों में फैल गया। एयर इंडिया की पहली फ्लाइट ने शनिवार को 324 भारतीयों को निकाला। इसके बाद रविवार को 323 अन्य भारतीयों को वापस लाया गया। मालदीव के सात नागरिकों को भी दूसरी फ्लाइट से लाया गया। चीन में भारतीय राजदूत विक्रम मिसरी ने ट्वीट करके जानकारी दी वुहान से दूसरी फ्लाइट रविवार को सुबह रवाना हुई और कुछ घंटों में दिल्ली पहुंच गई।

हुबेई में अभी भी 100 भारतीय मौजूद

मिसरी के अनुसार चार भारतीयों को दूसरी फ्लाइट में भेजा नहीं जा सका। वे अभी भी चीन में ही हैं। इन चारों को तेज बुखार होने के कारण लाया नहीं जा सका। पहली फ्लाइट में भी छह भारतीयों को चीन के इमीग्रेशन अधिकारियों से मंजूरी नहीं मिली क्योंकि उन्हें तेज बुखार था। वहां रोके गए भारतीयों को टेस्ट किया जाएगा ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण के बारे में पुष्टि हो सके। भारतीय राजदूत ने बताया कि हुबेई प्रांत में भी 100 भारतीय रुके हुए हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से