Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय कोरोना वायरस के बारे में पहली बार चेतावनी देने वाले चीनी डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत

कोरोना वायरस के बारे में पहली बार चेतावनी देने वाले चीनी डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत

आउटलुक टीम - FEB 07 , 2020
कोरोना वायरस के बारे में पहली बार चेतावनी देने वाले चीनी डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत
कोरोना वायरस के बारे में पहली बार चेतावनी देने वाले चीनी डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत
File Photo
आउटलुक टीम

चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण के बारे में चेतावनी देने वाले आठ ‌वि‌सिल ब्लोअर में एक चीनी डॉक्टर ली वेनलियांग की इस महामारी में मौत हो गई। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक डॉक्टर ली वेनलियान्ग की मौत कोरोना वायरस की चपेट में आने से हुई है। जब चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस की खबर को छिपाने की कोशिश की जा रही थी, तब डॉक्टर ली वेनलियान्ग ने अस्पताल से वीडियो पोस्ट करके कोरोना वायरस को लेकर लोगों को चेताया था। वह पहले व्यक्ति थे, जिन्होंने पिछले साल दिसंबर में वुहान में कोरोना वायरस के सामने आने की जानकारी दी थी।

डॉक्टर को बनाया था सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने का आरोपी

इसके बाद चीन के स्थानीय स्वास्थ्य विभाग ने 34 वर्षीय डॉक्टर ली वेनलियान्ग से पूछताछ की थी। इतना ही नहीं, वुहान पुलिस ने डॉक्टर ली वेनलियान्ग को नोटिस भी जारी किया था और उनको सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने का आरोपी बनाया गया था। कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद डॉक्टर ली वेनलियान्ग को 12 जनवरी को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था। वो एक मरीज के संपर्क में आने के बाद कोरोना वायरस की चपेट में आए थे।

डॉक्टर ने कोरोना वायरस से इस तरह से चेताया था

वेनलियांग ने पिछले साल 30 दिसंबर को अपने चिकित्सा महाविद्यालय के साथियों को चीनी मैसेजिंग ऐप वीचैट पर बताया था कि स्थानीय सी फूड बाजार से आए सात मरीजों का सार्स जैसे संक्रमण का इलाज किया जा रहा है और उन्हें अस्पताल के एक अलग वार्ड में रखा गया है। डॉक्टर ली वेनलियान्ग ने अपने साथी डॉक्टरों को चेतावनी दी कि वो इस वायरस से बचने के लिए खास तरह के कपड़े पहनें।

2003 में चीन एवं पुरी दुनिया में हुई थी 800 लोगों की मौत

साथ ही, उन्होंने बताया कि परीक्षण में साफ हुआ है कि यह विषाणु कोरोना वायरस समूह का है। इसी समूह के सिवियर एक्यूट रेस्पीरेटरी सिंड्रोम (सार्स) विषाणु भी है जिसकी वजह से 2003 में चीन समेत पुरी दुनिया में 800 लोगों की मौत हुई थी। वेनलियांग ने अपने दोस्तों से कहा कि वे अपने परिजनों को निजी तौर पर इससे सतर्क रहने को कहें। हालांकि, यह संदेश कुछ घंटे में ही वायरल हो गया और पुलिस ने उन्हें अफवाह फैलाने वाला करार देकर प्रताड़ित किया था।

डब्ल्यूएचओ ने डॉक्टर की मौत पर जताया दुख

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चीनी डॉक्टर ली वेनलियान्ग की मौत पर दुख जताया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में कहा गया कि हम डॉक्टर ली वेनलियान्ग के निधन से बेहद दुखी हैं। हम सभी को उनके द्वारा किए गए कार्य को सराहना और सम्‍मान देने की जरूरत है।

कोरोना वायरस को लेकर भारत भी पूरी तरह से अलर्ट

चीन से फैले कोरोना वायरस को लेकर भारत भी पूरी तरह से अलर्ट है। चीन, जापान, सिंगापुर और थाईलैंड से आने वाले एक लाख से ज्यादा यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस की जांच के लिए अतंरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर विशेषज्ञ तैनात किए हैं। फिलहाल 21 हवाई अड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से