Home दुनिया सामान्य कुलभूषण को दूसरा काॅन्सुलर एक्सेस नहीं देगा पाक, भारत ने कहा- पूरी तरह लागू कराएंगे ICJ का आदेश

कुलभूषण को दूसरा काॅन्सुलर एक्सेस नहीं देगा पाक, भारत ने कहा- पूरी तरह लागू कराएंगे ICJ का आदेश

आउटलुक टीम - SEP 12 , 2019
कुलभूषण को दूसरा काॅन्सुलर एक्सेस नहीं देगा पाक, भारत ने कहा- पूरी तरह लागू कराएंगे ICJ का आदेश
कुलभूषण को दूसरा कॉन्सुलर एक्सेस नहीं देगा पाक, भारत ने कहा- आईसीजे का आदेश पूरी तरह लागू करवाएंगे
File Photo
आउटलुक टीम

पाकिस्तान ने गुरुवार को भारतीय राजनयिकों को कुलभूषण जाधव से दूसरी बार मिलने की अनुमति देने से इनकार कर दिया। पाक के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने कहा था कि जाधव को दूसरी बार काॅन्सुलर एक्सेस नहीं दिया जाएगा। इस पर भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हम इस मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के आदेश को पूरी तरह लागू करवाने की कोशिश करेंगे। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता र‌वीश कुमार ने कहा कि हम डिप्लोमैटिक चैनल्स के जरिए पाक के साथ संपर्क में हैं।

दो सितंबर को दिया था कॉन्सुलर एक्सेस

इससे पहले आईसीजे के आदेश के बाद 2 सितंबर को पाकिस्तान ने कुलभूषण को कॉन्सुलर एक्सेस दिया था। लेकिन, इस मुलाकात के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि एक घंटे की इस मुलाकात के दौरान यह स्पष्ट था कि कुलभूषण अत्यधिक दबाव में थे। उन पर पाक के झूठे दावे को सही साबित करने का दबाव दिखाई दे रह था। कुलभूषण 3 साल से ज्यादा वक्त से पाक जेल में बंद हैं।

जुलाई में आईसीजे ने कॉन्सुलर एक्सेस देने का आदेश दिया

भारत के रिटायर्ड नेवी अफसर जाधव को पाक की सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में जासूसी और आतंकवाद के आरोप पर मौत की सजा सुनाई थी। इसके बाद भारत मामले को हेग (नीदरलैंड) स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) में ले गया था। कोर्ट ने जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी। इस साल जुलाई में आईसीजे ने पाक को आदेश दिया था कि वह बिना देर किए जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस मुहैया करवाए।

सशर्त दिया था कॉन्सुलर एक्सेस

पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने रविवार को कहा था कि जाधव को वियना कन्वेंशन के तहत कॉन्सुलर एक्सेस मिलेगा। उन्होंने कहा यह एक्सेस आईसीजे के फैसले और पाकिस्तान के कानून के तहत दिया जाएगा। पाकिस्तान सरकार ने आईसीजे के फैसले के 11 दिन बाद कुलभूषण को सशर्त एक्सेस देने का निर्णय लिया था।  

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से