Home » दुनिया » सामान्य » सामने आया चोकसी का पहला वीडियो, कहा- बिना कारण बताए पासपोर्ट किया सस्पेंड

सामने आया चोकसी का पहला वीडियो, कहा- बिना कारण बताए पासपोर्ट किया सस्पेंड

SEP 11 , 2018

पहली बार पंजाब नेशनल बैंक में घोटाले के आरोपी और गीतांजलि ग्रुप के मालिक मेहुल चोकसी का वीडियो सामने आया है, जिसमें वो खुद को निर्दोष बताते हुए दिख रहे हैं। साथ ही ये भी कह रहे हैं कि उनके ऊपर ईडी द्वारा लगाए गए आरोप गलत और आधारहीन है।  देश से भागने के बाद मेहुल चोकसी पहली बार सामने आया है।

मुझ पर ईडी  द्वारा लगाए गए सभी आरोप झूठे: मेहुल चोकसी

देश से फरार होने के बाद पहली बार एएनआई को दिए इंटरव्यू में मेहुल ने कहा, 'मुझ पर ईडी  द्वारा लगाए गए सभी आरोप झूठे और निराधार हैं। उन्होंने गलत तरीके से मेरी संपत्तियों को जब्त किया है।' एंटिगा में न्यूज एजेंसी की तरफ से ये सवाल मेहुल के वकील ने पूछे हैं।

बिना कारण बताए मेरा पासकोर्ट किया रद्द: चोकसी

इस इंटरव्यी के दौरान चोकसी ने यह भी कहा कि उसने भारतीय पासपोर्ट का सस्पेंशन रद्द करवाने की कोशिश की थी। उसने कहा, भारतीय पासपोर्ट अथॉरिटी ने मेरे पासपोर्ट को सस्पेंड कर दिया, जिससे मैं कहीं आने-जाने लायक नहीं रहा।

मुझे यह नहीं बताया गया कि भारत के लिए कैसे खतरा हूं

साथ ही चोकसी ने यह भी बताया कि 16 फरवरी को मुझे एक ई-मेल मिला, जिसमें कहा गया कि भारत को खतरे की वजह से मेरा पासपोर्ट सस्पेंड किया गया है। 20 फरवरी को मैंने रीजनल पासपोर्ट ऑफिस मुंबई को एक ई-मेल भेजा और पासपोर्ट बहाल करने की अपील की। मुझे इसका जवाब नहीं दिया गया। मुझे यह नहीं बताया गया कि मैं भारत के लिए कैसे खतरा हूं।

यहां देखें वीडियो-

'चोकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश में जुटी भारत सरकार'

उल्लेखनीय है कि पंजाब नैशनल बैंक में करीब 14 हजार करोड़ रुपये के घोटाले में अरबपति जूलर नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी को आरोपी बनाया गया है। इस साल जनवरी में घोटाले का पर्दाफाश होने से पहले दोनों देश छोड़कर भाग गए। चोकसी इस समय एंटिगा में है और भारत सरकार प्रत्यर्पण की कोशिश में जुटी है।

चोकसी को मिल चुकी है एंटीगुआ की नागरिकता

मेहुल चोकसी ने भारत छोड़ने के बाद एंटीगुआ की नागरिकता ले ली थी। एंटीगुआ में चोकसी की मौजूदगी के बारे में खबरें आने के बाद सीबीआई ने एंटीगुआ सरकार से इस बारे में जानकारी मांगी थी। इसके बाद एंटीगुआ की एजेंसियों ने इसकी पुष्टि की। एंटीगुआ और बारबूडा के ‘सिटिजनशिप बाई इनवेस्टमेंट प्रोग्राम' के तहत कोई व्यक्ति एनडीएफ निवेश फंड में न्यूनतम एक लाख डॉलर निवेश कर पासपोर्ट हासिल कर सकता है। चोकसी जनवरी के पहले सप्ताह में भारत से फरार हो गया था।

पहले मॉब लिंचिंग का बनाया था बहाना

इससे पहले चोकसी ने कहा था वह भारत नहीं आ सकता क्योंकि यहां जिस तरह से मॉब लिंचिंग का माहौल है, उसकी वजह से उसे अपनी हत्या का डर है।  जांच के लिए पेश होने के लिए सीबीआई ने चोकसी को नोटिस भेजा था। चोकसी ने सीबीआई की स्पेशल कोर्ट से गैर जमानती वारंट रद्द करने की मांग की थी। साथ ही चोकसी ने पीएनबी फ्रॉड केस में कोर्ट के सामने पेश न हो पाने के लिए कई वजह भी बताई थी।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.