Home दुनिया सामान्य पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा- कश्मीर पर दुनिया हमारी नहीं भारत की बात मानती है

पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा- कश्मीर पर दुनिया हमारी नहीं भारत की बात मानती है

आउटलुक टीम - SEP 12 , 2019
पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा- कश्मीर पर दुनिया हमारी नहीं भारत की बात मानती है
पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा- कश्मीर पर दुनिया हमारी नहीं भारत की बात मानती है
File Photo
आउटलुक टीम

कश्मीर के मसले पर भारत पर आरोप लगा रहे पाकिस्तान को अब तक वैश्विक मंचों पर खास समर्थन नहीं मिला है। इसी के चलते पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री (गृह मंत्री) ब्रिगेडियर एजाज अहमद शाह ने यह बात कही है कि पाकिस्तान को दुनिया से समर्थन नहीं मिल रहा है और कश्मीर के मसले पर दुनिया भारत पर विश्वास कर रही है।

एजाज अहमद शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर लोग हमारी बात का विश्वास नहीं कर रहे हैं। हम कहते हैं कि भारत ने कश्मीर में कर्फ्यू लगाया है और वहां जुल्म किया जा रहा है लेकिन कोई हमारी बात मानने को तैयार नहीं है और हर कोई भारत की बात पर ही विश्वास कर रहा है।

पाकिस्तान पर राज करने वाले देश की छवि बिगाड़ने के दोषी

एक टीवी इंटरव्यू में पाकिस्तानी मंत्री बोले कि आज हमारे देश की बात कोई सुनने के लिए तैयार नहीं हैं, ये एक दिन का काम नहीं है। देश पर राज करने वालों ने छवि को बिगाड़ कर रख दिया है, अभी तक जिसने भी देश की सत्ता चलाई है वही पाकिस्तान की छवि बिगाड़ने का आरोपी है। ब्रिगेडियर एजाज अहमद शाह ने कहा कि इसके लिए जनरल जिया उल हक, परवेज मुशर्रफ से लेकर इमरान खान तक हर सत्ताधारी जिम्मेदार है।

हाफिज सईद को कहा साहेब

इस इंटरव्यू में इमरान खान के मंत्री ने मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज सईद को ‘साहेब’ कहकर बुलाया और कहा कि हाफिज सईद ने पाकिस्तान के खिलाफ कोई काम नहीं किया है। हाफिज सईद को लड़ाई लड़ने के लिए खड़ा किया गया था लेकिन अब उन्हें काबू में करने की जरूरत है।

मानवाधिकार परिषद में भी लगा पाक को झटका

पाकिस्तान के गृह मंत्री का बयान उस वक्त आया है जब पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) और यूएन में बड़ा झटका लगा है। पाकिस्तान ने भारत के द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने का विरोध किया है और इसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के नियमों का उल्लंघन बताया है।

भारत ने हर जगह इस आरोप का सबूत के साथ जवाब दिया और इस मसले को भारत का आंतरिक मामला बताया।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से