Home » दुनिया » सामान्य » काठमांडू के नागरिक अभिनंदन में बोले मोदी, नेपाल की खुशी में ही भारत की खुशी

काठमांडू के नागरिक अभिनंदन में बोले मोदी, नेपाल की खुशी में ही भारत की खुशी

MAY 12 , 2018

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को काठमांडू के राष्ट्रीय सभा गृह में  नागरिक अभिनंदन के दौरान नेपाल को हर स्तर पर सहयोग उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने कामना की कि नेपाल अपनी आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं के अनुसार आगे बढ़े। आपकी सफलता के लिए भारत हमेशा नेपाल के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलेगा। मोदी ने कहा कि आपकी सफलता में ही भारत की सफलता है। नेपाल की खुशी में ही भारत की खुशी है। अभिनंदन समारोह के दौरान काठमांडू के मेयर विद्या सुंदर शाक्य ने मोदी को शहर की चाबी भेंट की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नेपाल की इस यात्रा में मुझे पशुपतिनाथ, जनकपुर धाम और मुक्तिनाथ, तीनों पवित्र तीर्थ स्थानों पर जाने का सुअवसर मिला। ये तीनों सिर्फ महत्वपूर्ण तीर्थस्थल ही नहीं है, ये भारत और नेपाल के अडिग और अटूट संबंधों के हिमालय हैं।

उन्होंने कहा कि काठमांडू सिर्फ नेपाल की राजधानी नहीं है, काठमांडू अपने आप में एक पूरी दुनिया है और इस दुनिया का इतिहास उतना ही पुराना, उतना ही भव्य और उतना ही विशाल है जितना हिमालय। मोदी ने कहा कि जब भारतीय नेपाल की ओर देखते हैं तो हमें नेपाल को देखकर, यहां के माहौल को देखकर खुशी होती है। उन्होंने कहा कि नेपाल में आशा का, उज्ज्वल भविष्य की कामना का, लोकतंत्र की मजबूती का और समृद्ध नेपाल, सुखी नेपाली के विजन का माहौल है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब तो हम क्रिकेट से भी जुड़ गए हैं। संदीप लमिछाने नाम का नेपाली लड़का इंडियन प्रीमियम लीग (आइपीएल) में खेल रहा है। क्रिकेट का यह संबंध दोनों देशों के लोगों और नजदीक लाएगा और मुझे उम्मीद है कि और अन्य खेलों से भी हमारे संबंध मजबूत होते रहेंगे।

मोदी ने कहा कि 2015 के भूकंप की भयानक त्रासदी के बाद नेपाल विशेष रूप से काठमांडू के लोगों ने जिस धैर्य और अदम्य साहस का परिचय दिया वह पूरे विश्व में एक मिसाल है। यह आपके समाज की दृढ़ निष्ठा और कर्मठता का प्रमाण है कि आपदा से निपटते हुए भी नेपाल में नई व्यवस्था का निर्माण हुआ है। उन्होंने कहा कि भूकंप के बाद सिर्फ इमारतों का ही नहीं देश और समाज का एक तरह से पुनर्निर्माण हुआ है।  


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.