Home » दुनिया » सामान्य » पहली बार नहीं हुआ है नेपाल में बड़ा विमान हादसा

पहली बार नहीं हुआ है नेपाल में बड़ा विमान हादसा

MAR 12 , 2018

बांग्लादेश का एक यात्री विमान नेपाल की राजधानी काठमांडू स्थित त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर क्रैश हो गया। विमान में कुल 67 लोग सवार थे। हादसे में 50 लोगों के मारे जाने की खबर है।

नेपाल में कोई पहली बार बड़ा विमान हादसा नहीं हुआ है। 1992 में थाई एयरवेज का विमान मौसम की खराबी के कारण क्रैश हो गया था और इसमें सवार यात्रियों और चालक दल के सदस्यों की मौत हो गई थी। यूं तो नेपाल में पूर्व में हुए हादसों की अलग-अलग वजह रही हैं लेकिन नेपाल में हिमालय की पहाड़ियों को भी काफी हद तक इसकी वजह माना जाता रहा है। इसके कारण आए दिन छोटे एयरक्राफ्ट क्रैश हो जाते हैं।

असल में नेपाल में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट है। हर साल हजारों पर्यटक इन चोटियों को देखने नेपाल आते हैं। माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई बेहद दुर्गम है और हर आदमी वहां नहीं जा सकता इसलिए बहुत से लोग एवरेस्ट देखने के लिए अलग-अलग एयरलाइंस कंपनियों की निजी विमान सेवा का इस्तेमाल करते हैं।

आइए पूर्व में हुए विमान हादसों पर नजर डालते हैंः

- जुलाई 1992 में थाइलैंड का एक विमान बैंकॉक से काठमांडू एयरपोर्ट पर लैंड करते हुए क्रैश हो गया था। उस वक्त प्लेन में 99 यात्री और 14 चालक दल के सदस्य थे और सभी की मौत हो गई थी। इसका कारण भी वहां दुर्गम पहाड़ियों को माना जा रहा था।

- सितंबर 2011 में माउंट एवरेस्ट की सैर कराकर लौट रहा एक यात्री विमान ललितपुर के कोटडंडा पहाड़ियों पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में 10 भारतीय समेत 19 लोगों की मौत हो गई थी। रविवार की सुबह जब यह हादसा हुआ तब काठमांडू और इसके आसपास की पहाड़ियां मानसून के बादलों से ढकी हुई थीं।

- दिसंबर 2010 में एक छोटा ट्विन ओटर विमान पश्चिमी नेपाल में हिमालय की तलहटी में क्रैश हो गया था। इस हादसे में 22 लोगों की जान गई थी।

- फरवरी 2016 में नेपाल के पोखरा एयरपोर्ट से जोमसोम के लिए 23 यात्रियों को लेकर उड़ान भरने वाले तारा एयरलाइंस का विमान लापता हो गया। दिलचस्प है कि पोखरा एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाले कई विमान हादसे का शिकार हो चुके हैं।

- मई 2013 में जोमसोम एयरपोर्ट पर लैंडिंग के दौरान नेपाल एयरलाइंस का विमान काली गंडकी नदी में जा गिरा था। इस हादसे में 22 लोग घायल हुए थे जिनमें से 7 लोगों को गंभीर चोटें आईं थी। इस विमान ने भी पोखरा एयरपोर्ट से ही उड़ान भरी थी।

- मई 2012 में भी अग्नि एयरवेज का विमान जोमसोम एयरपोर्ट पर लैंडिंग के वक्त हादसे का शिकार हो गया था जिसमें 15 लोगों की मौत हो गई थी जिसमें से 13 भारतीय थे। हादसे से पहले इस विमान ने भी पोखरा एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.