Home दुनिया सामान्य केमिस्ट्री के लिए नोबेल पुरस्कार का ऐलान, इन तीन वैज्ञानिकों को मिलेगा अवॉर्ड

केमिस्ट्री के लिए नोबेल पुरस्कार का ऐलान, इन तीन वैज्ञानिकों को मिलेगा अवॉर्ड

आउटलुक टीम - OCT 09 , 2019
केमिस्ट्री के लिए नोबेल पुरस्कार का ऐलान, इन तीन वैज्ञानिकों को मिलेगा अवॉर्ड
केमिस्ट्री के लिए नोबेल पुरस्कार का ऐलान, इन तीन वैज्ञानिकों को मिलेगा अवॉर्ड
File Photo
आउटलुक टीम

रसायन (केमिस्ट्री) के क्षेत्र में 2019 का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के जॉन वी गुडइनफ, ब्रिटेन के स्टैनली विटिंघम और जापान के अकीरा योशिनो को दिया जाएगा। तीनों वैज्ञानिकों को लीथियम आयन बैटरी बनाने में अहम भूमिका के लिए पुरस्कार के लिए चुना गया है। 97 साल के गुडइनफ नोबेल पाने वाले सबसे उम्रदराज विजेता होंगे।

पुरस्कारों की घोषणा करते हुए ज्यूरी ने कहा कि यह कम वजन की रिचार्ज होने वाली पॉवरफुल बैट्री अब मोबाइल फोन से लेकर लैपटॉप, इलेक्ट्रिक व्हीकल में इस्तेमाल होती है...इस बैट्री की मदद से ठीक-ठाक मात्रा में सोलर एनर्जी, विंड एनर्जी भी स्टोर की जा सकती है।

केमिस्ट्री के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार का इतिहास

1901 लेकर 2018 तक केमिस्ट्री के क्षेत्र में कुल 110 पुरस्कार दिए गए। इनमें 181 लोगों को यह पुरस्कार प्रदान किया गया। केमिस्ट्री के लिए 1916, 1917, 1919, 1924, 1933,1940, 1941 और 1942 में इस पुरस्कार की घोषणा नहीं की गई।

पांच महिलाओं को मिला केमिस्ट्री का नोबेल

केमिस्ट्री का नोबेल कुल पांच महिलाओं को दिया गया। मैडम मैरी क्यूरी 1911 में यह पुरस्कार जीतीं थी। उन्होंने 1903 में फिजिक्स का भी नोबेल हासिल किया था। 

केमिस्ट्री के लिए सबसे युवा पुरस्कार विजेता फ्रेडरिक जोलियट (35) थे, उन्होंने 1935 में अपनी पत्नी इरीन जोलियट क्यूरी के साथ यह पुरस्कार जीता था।

ब्रिटिश वैज्ञानिक फ्रेडरिक सेंगर को रसायन के लिए दो बार (1958 और 1980) नोबेल से सम्मानित किया गया।

नोबेल पुरस्कार के बारे में

रॉयल स्वीडिश अकैडमी ऑफ साइंसेज भौतिकी, रसायन और अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार विजेताओं का चयन करती है। कैरोलिन इंस्टीट्यूट, स्टॉकहोम, स्वीडन में नोबेल असेंबली मेडिसिन के क्षेत्र में विजेताओं के नाम की घोषणा करती है। साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार स्वीडिश अकादमी स्टॉकहोम, स्वीडन द्वारा दिया जाता है और शांति का नोबेल पुरस्कार नॉर्वे की संसद द्वारा चुनी गई समिति देती है।

क्यों दिया जाता है नोबेल पुरस्कार

अल्फ्रेड नोबेल का जन्म स्वीडन में 21 अक्टूबर 1833 को हुआ था। अल्फ्रेड रसायनशात्री और इंजीनियर थे। 10 दिसंबर 1896 को इटली के सौन रेमो में अल्फ्रेड नोबेल का निधन हुआ। युद्ध में भारी तबाही मचाने वाले अपने अविष्कारों को लेकर अल्फ्रेड नोबेल भारी पश्चाताप था। इसलिए उन्होंने अपनी पूरी संपत्ति का इस्तेमाल मानव हित के लिए किए गए आविष्कारों में करने का फैसला लिया और नोबेल फाउंडेशन की स्थापना की। उन्होंने अपनी वसीयत में हर साल भौतिकी, रसायन, चिकित्सा, साहित्य और शांति के क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को पुरस्कार देने की घोषणा की।

नोबेल पुरस्कार में क्या मिलता है

नोबेल पुरस्कार के हर विजेता को करीब साढ़े चार करोड़ रुपए की राशि दी जाती है। इसके साथ 23 कैरेट सोने से बना 200 ग्राम का पदक और प्रशस्ति पत्र भी दिया जाता है। पदक के एक ओर नोबेल पुरस्कार के जनक अल्फ्रेड नोबेल की छवि, उनके जन्म तथा मृत्यु की तारीख लिखी होती है। पदक की दूसरी तरफ यूनानी देवी आइसिस का चित्र, रॉयल एकेडमी ऑफ साइंस स्टॉकहोम तथा पुरस्कार पाने वाले व्यक्ति की जानकारी होती है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से