Home दुनिया अमेरिका ट्रंप के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में दूसरी बार महाभियोग प्रस्ताव पास, अपने समर्थकों से की हिंसा न करने की अपील

ट्रंप के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में दूसरी बार महाभियोग प्रस्ताव पास, अपने समर्थकों से की हिंसा न करने की अपील

आउटलुक टीम - JAN 14 , 2021
ट्रंप के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में दूसरी बार महाभियोग प्रस्ताव पास, अपने समर्थकों से की हिंसा न करने की अपील
डोनाल्ड ट्रंप
आउटलुक टीम

वाशिंगटन में कांग्रेस बिल्डिंग कैपिटल हिल पर हाल ही में हुई हिंसा को उकसाने के आरोप में अमेरिका की प्रतिनिधि सभा ने मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ लाये गए दूसरे ऐतिहासिक महाभियोग के प्रस्ताव को बहस के बाद बुधवार को  पास कर दिया। डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के लोकतंत्र के इतिहास में एक ही कार्यकाल में दो बार महाभियोग का सामने करने वाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बन गए हैं। प्रतिनिधि सभा में 197 के मुक़ाबले 232 वोटों से महाभियोग का प्रस्ताव पास हो गया जिसमें रिपब्लकिन पार्टी के दस सांसदों ने भी महाभियोग के समर्थन में मतदान किया। 

       
        डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सीनेट में भी यदि महाभियोग पारित हो जाता है तो वह कभी भी व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति के तौर पर पदभार नहीं संभाल सकेंगे और वर्ष 2024 में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों में भी भाग नहीं ले सकेंगे।  इससे पहले पिछले वर्ष दिसंबर में भी श्री ट्रंप पर राष्ट्रपति चुनावों में जीत हासिल करने वाले जो बिडेन के बेटे के खिलाफ यूक्रेन पर दबाव बनाने को लेकर महाभियोग पारित किया था। सीनेट में यह महाभियोग हालांकि निरस्त हो गया था क्योंकि वहां रिपब्लिकन पार्टी बहुमत में है। 
       
        गौरतलब है कि श्री ट्रंप के समर्थकों ने छह जनवरी को वाशिंगटन में कांग्रेस बिल्डिंग कैपिटल हिल पर हमला कर संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था। यह हिंसक घटना उनके  द्वारा व्हाइट हाउस के पास हजारों समर्थकों को संबोधित किये जाने के बाद हुयी। प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में दो महिलाओं समेत पांच लोगों की मौत हो गयी जबकि पुलिस ने इस सिलसिले में 52 लोगों को गिरफ्तार किया है।
        कैपिटॉल हिल पर हुए हमले के बाद तमाम सोशल मीडिया मंचों द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के बाद अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पहले कभी इतने खतरे में नहीं थी। उन्होंने इस बीच अपने समर्थकों से राष्ट्रपति चुनावों में जीत हासिल करने वाले जो बिडेन के शपथ समारोह के दौरान किसी भी तरह की हिंसा नहीं करने की अपील भी की है।
       
        इस घटना के बाद फेसबुक ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के अकाउंट को कम से कम दो सप्ताह के लिए बंद रखने की घोषणा की है तथा ट्वीटर ने भी उनके अकॉउंट को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है और केवल यही नहीं यूट्यूब समेत गूगल प्ले स्टोर ने भी अपने प्लेटफार्म पर से उनसे जुड़ी एप और चैनल पर रोक लगा दी है। 

इस बीच डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को अपने समर्थकों से राष्ट्रपति चुनावों में जीत हासिल करने वाले जो बिडेन के शपथ समारोह के दौरान किसी भी तरह की हिंसा नहीं करने की अपील की है। व्हाइट हाउस की तरफ से जारी बयान के अनुसार श्री ट्रंप ने अपने समर्थकों से हिंसा और कुछ भी तनावपूर्ण नहीं करने का आग्रह किया है। इससे पहले श्री ट्रंप ने सोमवार को श्री बिडेन के शपथ समारोह को ध्यान में रखते हुए वाशिंगटन डीसी में स्टेट ऑफ़ एमेर्जेंन्सी लगाने की घोषणा की थी।

        उल्लेखनीय है कि अमेरिका की ख़ुफ़िया एजेंसी एफबीआई ने श्री बिडेन के शपथ समारोह के दौरान हिंसा होने की चेतावनी जारी की थी जिसके बाद से क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। शपथ समारोह के दौरान एहतियातन कई हजार पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया जाएगा।
        अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, "विरोध प्रदर्शनों की आशंका को देखते हुए मैं अपील करता हूं कि कोई भी किसी भी तरह की हिंसा न करे और न ही कानून को तोड़े। यह वह नहीं है जिसके लिए मैं खड़ा हूं और न ही यह वो है जिसके लिए अमेरिका खड़ा है। मैं सभी अमेरिकियों से तनाव कम करने और शान्ति बनाये रखने के लिए मदद करने की अपील करता हूं।"