Home » दुनिया » अमेरिका » ‘अमेरिकी मीडिया ट्रंप का बेईमान विरोधी बन गया है’

‘अमेरिकी मीडिया ट्रंप का बेईमान विरोधी बन गया है’

MAY 17 , 2017
अमेरिकी हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स के पूर्व अध्यक्ष न्यूट गिंगरिच ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अनुरोध किया है कि व्हाइट हाउस में मीडिया रिपोर्टरों के लिए रोज होने वाली प्रेस ब्रीफिंग को बंद कर दें क्योंकि अमेरिकी मीडिया एक भ्रष्ट संस्‍थान और अमेरिकी राष्ट्रपति का बेईमान विरोधी बन गया है। गिंगरिच के अनुसार व्हाइट हाउस के मीडिया रूम को बंद करने से देश के सामने यह संदेश जाएगा कि मीडिया एक भ्रष्ट संस्‍थान है और उन्हें (ट्रंप को) ऐसे लोग निशाना बना रहे हैं जो उनकी छवि खराब करना चाहते हैं।

ट्रंप के बड़े समर्थक माने जाने वाले ‌गिंगरिच ने कहा, ‘मैं अमेरिकी न्यूज मीडिया से व्यक्तिगत रूप से नाराज हूं। मुझे लगता है कि ये विध्वंसकारी और घिनौना है और वर्तमान में ये देश के सामने एक बड़ा खतरा है।’ एक बयान में गिंगरिच ने कहा कि प्रेस को नजदीकी कॉफीशॉप में निर्वासित कर दिया जाना चाहिए और व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव को सीधे अमेरिकी जनता से सवाल आमंत्रित कर जवाब देना चाहिए। यही नहीं ट्रंप को मीडिया को एक बेईमान विरोधी मानना चाहिए जो कि रिपोर्टर होने का दिखावा करते हैं।

Advertisement

गिंगरिच ने इस बात पर जोर दिया कि अमेरिकी राष्ट्रपति को यह अधिकार है कि वह किसी भी गोपनीय दस्तावेज को सार्वजनिक कर दे। उन्होंने यह भी कहा कि सदियों से अमेरिकी राष्ट्रपति अपने सीने में दबी गोपनीय सूचनाओं को विदेशी अधिकारियों से साझा करते रहे हैं। वरिष्ठ अमेरिकी नेता ने कहा कि रिपोर्टरों को ऐसी कोई खबर नहीं छापनी चाहिए जिसके साथ वो सूत्र का नाम न दें सकें। ट्रंप की कम्युनिकेशन टीम को बेहतरीन करार देते हुए उन्होंने मीडिया से कहा, ‘तुम लोग पागल हो’। गिंगरिच ने कहा कि यहां ऐसे लोग हैं जो ये सब बकवास पढ़कर सोचते हैं कि हमें डरना चाहिए। आपके पास रक्षा क्षेत्र में मैट्टिस, केली और टिलरसन हैं और मुझे लगता है कि आइजनहावर के बाद यह सबसे अच्छी टीम है।

गौरतलब है कि खुद ट्रंप भी पहले यह कह चुके हैं अमेरिकी न्यूज मीडिया अमेरिकी जनता का दुश्मन है। इस आरोप को मीडिया ने बड़े पैमाने पर खारिज किया है। व्हाइट हाउस कॉरेस्पोंडेंट एसोसिएशन ने कहा है कि व्हाइट हाउस में मीडिया ब्रीफिंग को बंद करने से सरकार के स्तर पर जवाबदेही, पारदर्शिता और अमेरिकी जनता के उस अवसर में कटौती होगी जिसके तहत वो ये देखते हैं कि अमेरिकी व्यवस्‍था में कोई भी सवालों से ऊपर नहीं है। गौरतलब है कि ट्रंप पर गोपनीय जानकारी रूसी अधिकारियों के साथ साझा करने का आरोप लगा है और मीडिया ने ही इसकी खबर दी है। (एजेंसी)


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.