Home नज़रिया
नज़रिया

जम्मू-कश्मीर में अब असली परीक्षा भारत सरकार की

आखिरकार भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार 19 जून को जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस...

जम्मू-कश्मीर में अब जमीन पर एक्शन देखने का है समय

- शांतनु मुखर्जी पीडीपी सरकार से भाजपा द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद बहुत से लोग संभवत: आश्चर्यचकित...

गठबंधनों की नई बेला

आजकल समझौतों का दौर चल रहा है तभी तो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तरी कोरिया के चेयरमैन किम...

गन्ना किसानों के पैकेज में चीनी कम, पैकेजिंग ज्यादा

कैराना के लोकसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हार ने एक बड़ा काम किया है। देश के गन्ना...

भरोसे पर खरी उतरें संस्थाएं

किसी भी लोकतंत्र के लिए सबसे अहम है उसकी संवैधानिक संस्थाओं में नागरिकों का भरोसा कायम रहे। यह भरोसा...

कैराना की प्रयोगशाला में गठबंधन का फार्मूला, ऐसे खाई भाजपा ने मात

करीब पांच साल पहले दंगों की प्रयोगशाला बने शामली, कैराना और मुजफ्फरगर का नया चेहरा सामने आया है। साल 2014...

जो जीता वही सिकंदर, "आपरेशन कमल" इस बार फेल

आखिरकार जोड़-तोड़ की राजनीति हारी और लोकतांत्रिक मूल्यों की जीत हुई। एक बार फिर साबित हो गया कि देश में...

जनादेश की राजनीति

“चुनाव नतीजों ने सबके हिस्से में एक न एक मायने में कुछ जोड़ा तो सबकी राह में कुछ रोड़े भी अटका दिए और...

वादों पर जवाबदेही की बेला

आखिरी वर्ष! फिर अग्निपरीक्षा की बारी! किसी भी सरकार के मुखिया के लिए यह एहसास पैरों में सुरसुरी पैदा कर...

अब परीक्षा का अंतिम दौर

लोकतंत्र में चुनी हुई सरकार को मतदाता पांच साल देता है उन वादों को पूरा करने के लिए जो सत्ताधारी दल ने...

कठुआ, उन्नाव, सूरत, एटा...

“ हालात बदलेंगे, जब समाज जगेगा। अपराध को सामुदायिक चश्मे से देखने की प्रवृत्ति और राजनैतिक संरक्षण...

चुनाव शास्त्र का पतन

योगेंद्र यादव “ पॉलिटिकल कंसल्टेंट सिर्फ राय ही नहीं देते, सीधे-उल्टे तरीके से चुनाव को सेट करने के...

डिजिटल खतरों में निहत्थे

“दुनिया की बड़ी इकोनॉमी में शुमार होती हमारी अर्थव्यवस्था और अथाह डेटा पैदा करने वाले देशों में से...

न नीति, न नीयत, दोगुनी आय कैसे बनेगी हकीकत

-सोमपाल शास्त्री   “2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए खेती में निवेश मौजूदा स्तर से एक हजार फीसदी...