Home नज़रिया
नज़रिया

कानूनी सुरक्षा भी हटी

श्रम कानूनों में बदलाव संवैधानिक ढांचे पर आघात है, यह भारत को सौ साल पीछे ले जाएगा कोविड महामारी ने...

लॉकडाउन की बलि

वायरस तो डरावना पर उसकी रोकथाम के अनियोजित उपायों ने लील लीं कई जिंदगियां लॉकडाउन की भयावह त्रासदी...

कोविड-19 संकट से मध्यम वर्ग पर भारी चोट

कोविड-19 के संकट का देश पर गंभीर असर हो रहा है। इसका खामियाजा सरकार से लेकर देश के हर नागरिक को उठाना पड़ा...

राहत पैकेज में देरी क्यों

महामारी कोविड-19 की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था गहरे संकट में है। दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं...

मजदूर हकों की रक्षा करें

जब लॉकडाउन चरणबद्ध तरीके से खोलने पर विचार हो रहा है, तो सवाल उठता है कि कोविड-19 के बाद के दौर में...

हकीकत देखिए, हुजूर!

विस्तारित लॉकडाउन पर विचार अहम है। यह हर किसी के लिए अनकही दुश्वारियां लेकर आया है, खासकर हाशिए पर...

दशकों पीछे जाने का डर

अभी यह अंदाजा लगाना जल्दबाजी होगी कि जब हम कोविड-19 की सुरंग से निकले तो दुनिया कैसी दिखेगी। फिलहाल, हम...

दिल्ली दंगे की जांच में मुसलमान निशाने पर

दिल्ली पुलिस का कहना है कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया और उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा की जांच...

अफवाहों और लॉकडाउन से बेहाल पोल्ट्री-डेयरी सेक्टर

कोविड-19 महामारी जैसे-जैसे नए इलाकों में फैल रही है, लोगों की आमदनी, खाद्य सुरक्षा और स्वास्थ्य को लेकर...

किसान को मिले मदद

कृषि क्षेत्र पिछले कई साल से संकट का सामना कर रहा है और कृषि से होने वाली कमाई में लगातार गिरावट आई है।...

वायरस के वक्त सदमा

सदमा वह घाव है जो देह से आत्मा में जख्म उतार देता है। उसके साथ कलंक और लांछन की छायाएं डोलती आती हैं।...

पब्लिक सेक्टर बैंकों के मर्जर या कंसोलिडेशन करने का औचित्य

अप्रैल 2020 से 6 बैंक सिंडीकेट बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक,...

रामकृष्ण द्विवेदी होने के मायने, मुख्यमंत्री को हराकर रचा था इतिहास

नेहरू टोपी में दिखने वाले कांग्रेसी नेताओं की पीढ़ी लगभग समाप्ति पर है। पंडित रामकृष्ण द्विवेदी...

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन निर्यात पर भारत की सराहना होनी चाहिए, आलोचना नहीं

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन नाम की दवा इन दिनों काफी चर्चा में है। मलेरिया और रूमेटाइड जैसी बीमारियों की...