Home नज़रिया
नज़रिया

दो नेता, दोनों लाए बदलाव

“लालू और नीतीश चाहे साथ रहे या अलग, दोनों राज्य में अहम, अब दोनों के सामने चुनौतियां” बिहार विधानसभा...

हाशिए पर दलित

“कई ऐसे नीतिगत फैसले हुए जिनसे दलितों को उनके संवैधानिक अधिकार कम होने की आशंका” शुरुआत राष्ट्रीय...

नीतीश से नाराजगी तो भारी

“मुख्यमंत्री में 15 साल बाद भी काम पर वोट मांगने का भरोसा नहीं, पर विपक्ष के लिए चुनौती कम नहीं” पहली...

संपादक की कलम से: हाथरस और हम

“उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित लड़की की हिंसक मौत की हैरतनाक खबर जबसे सुनी है, गुस्से से मेरी...

राजनेता और उनका कवि हृदय

कविता और सत्ता दोनों एक दूसरे से विमुख रहती हैं, ऐसा प्रायः माना जाता है। कविता जहां विदेह एवं वैराग्य...

पासवान करिश्मा दोहराने की चुनौती

“क्या चिराग पासवान अपने पिता की तरह कुशल राजनेता साबित हो पाएंगे, इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में...

विक्रम और बेताल: किस्सा वही पुराना, संदर्भ आधुनिक

राजा विक्रम चुपचाप उठा और श्मशान की ओर चल दिया महल के सभी पहरेदार सो रहे थे पर शहर के सारे चोर जाग रहे थे...

खराब होती नस्ल को बचाइए

झारखंड की राजधानी रांची में बरियातू थाना पुलिस की टीम ने अफीम, हेरोइन और ब्राउन शुगर के साथ छह लोगों को...

उत्तराखंड में दिग्गज कांग्रेसियों को खोने वाले रावत पंजाब में सिद्धू को साधने में लगे

उतराखंड में दिग्गज नेताओं के भाजपा मेंं शामिल होने से बिखरी कांग्रेस से सबक लेते हुए वहां के पूर्व...

कृषि कानूनों में सुधार की दरकार

5 जून 2020 को केंद्र सरकार कृषि से संबंधित तीन अध्यादेश ले आई। संसद के संक्षिप्त मानसून सत्र में इन तीनों...

किसान की त्रासदी

“सरकारी योजनाओं का लाभ बड़े और कुछ मझोले किसानों तक ही पहुंच पाया। छोटा किसान तो लालफीताशाही और...

हाथरस तो सिर्फ एक, पिछले कुछ साल में दलित नारी उत्पीड़न में यूपी अव्वल

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित बच्ची के साथ दोहरी हिंसा से पूरा देश सन्न है। उसके साथ कथित तौर पर...

गांधी जयंती विशेष: रामधुन में ईश्वर अल्ला तेरो नाम कब, कैसे जुड़ा

महात्मा गांधी का प्रिय भजन ‘वैष्णव जन’ किस भाषा में है? यह सवाल आज बेमानी हो गया है। उसकी भाषा जो हो,...

हाथरस 'मोमेंट' को भुना पाएंगे राहुल?

यह फिर से सवाल है कि क्या यह राहुल गांधी का 'बेलछी' मोमेंट है?  क्या कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष...