खबर-चक्र

अखिलेश यादव
अखिलेश यादव

“भाई, अभी भी सबसे प्रसिद्ध अमरूद ‘इलाहाबादी अमरूद’ कहलाता है या उसका भी नाम बदलकर ‘प्रयागराजी अमरूद’ हो गया है?”

अखिलेश यादव, पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश

 

म्यांमार में फिर तख्तापलट

म्यांमार

म्यांमार में सेना ने तख्ता पलट कर स्टेट काउंसलर आंग सान सू की सहित सत्ताधारी दल नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी (एनएलडी) के कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है। इस तख्ता पलट के साथ एक दशक से चले आ रहे लोकतंत्र शासन का अंत हो गया। देश में एक साल के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी गई है। म्यांमार की सेना ने कहा कि पिछले साल हुए आम चुनाव में कई तरह की अनियमितताएं हुई थीं। सेना के कमांडर-इन-चीफ मिन आंग लाइंग ने कहा कि इसके लिए जरूरी कार्रवाई की जाएगी। सेना का कहना है कि देश में दोबारा निष्पक्ष चुनाव कराए जाएंगे और जीतने वाली पार्टी को सत्ता हस्तांतरित कर दी जाएगी। सेना ने ये भी कहा कि उसने 2008 के संविधान के तहत देश में आपातकाल लागू किया है। सेना द्वारा तख्ता पलट करना म्यांमार में नई बात नहीं है। 1962 में तख्तापलट के बाद देश में लगभग 50 साल सैन्य शासन रहा था। सैन्य शासन के विरोध में ही सू की सालों नजरबंद रहीं। म्यांमार में अभी 64 वर्षीय मिन आंग लाइंग आर्मी चीफ हैं। वे 2011 में सेना प्रमुख बने और फरवरी 2016 में उन्होंने अपना कार्यकाल पांच साल के लिए बढ़ा लिया था। 2017 में सेना की कार्रवाई के कारण सात लाख से अधिक रोहिंग्या मुस्लिमों को देश छोड़कर बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी थी। अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में सेना के खिलाफ मामले चल रहे हैं। दुनिया भर की निर्वाचित सरकारों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने म्यांमार में तख्तापलट की निंदा की है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने सेना द्वारा किए गए तख्तापलट को लोकतंत्र पर हमला करार देते हुए म्यांमार पर नए प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी है।

मुंबई की दोगुनी खुशी

लोकल ट्रेन

लंबे अरसे तक कोरोनावायरस और लॉकडाउन का दंश झेल रहे मुंबई के लिए फरवरी महीना दो खुशखबरी लेकर आया है। सिनेमा और लोकल ट्रेन मुंबई की पहचान रही हैं, लेकिन पिछले नौ महीनों से उनका परिचालन बंद था। अब लोकल ट्रेनें सभी के लिए खुल गई हैं और थिएटर में सौ फीसदी दर्शकों के आने की इजाजत मिल गई है। लोकल ट्रेनों में सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन का पालन और मास्क लगाना अनिवार्य है। नियमों का उल्लंघन करने पर भारी जुर्माने का प्रावधान है। ट्रेनों का संचालन सीमित स्तर पर कुछ महीने पहले शुरू हुआ था, लेकिन कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लोकल में जाने के लिए कई तरह के प्रतिबंध लागू थे। हालांकि बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) का कहना है कि अगले 15 दिनों में पता चलेगा कि लोकल ट्रेनों के कारण कोविड-19 के मामले बढ़े या नहीं। मुंबई लोकल मुंबई और आसपास के शहरों में रहने वालों के लिए जीवन रेखा की तरह है।

मिंत्रा लोगो विवाद

मिंत्रा लोगो

मुंबई की एक महिला नाज पटेल द्वारा साइबर पुलिस में शिकायत के बाद ई-कॉमर्स कंपनी मिंत्रा ने अपना लोगो बदलने का फैसला किया है। नाज ने शिकायत में कहा था कि कंपनी का लोगो महिलाओं की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला और उनका अपमान करने वाला है। अवेस्टा फाउंडेशन एनजीओ में कार्यरत पटेल ने दिसंबर 2020 में मिंत्रा के खिलाफ शिकायत कर न सिर्फ इसका लोगो हटाने बल्कि कंपनी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की भी मांग की थी। मुंबई पुलिस की साइबर क्राइम शाखा ने जांच के बाद पाया कि वाकई मिंत्रा का लोगो महिलाओं के लिए अपमानजनक है। इसके बाद एक महीने के अंदर कंपनी ने अपना लोगो बदलने का फैसला किया। कपड़ों और एसेसरीज के मामले में मिंत्रा भारत की बड़ी ऑनलाइन रिटेलर कंपनी है।

कॉमेडियन की दलील

कुणाल कामरा

स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा फिर खबरों में हैं। उन्होंने न्यायपालिका के खिलाफ कुछ ट्वीट्स किए थे, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना मानते हुए उन्हें नोटिस जारी कर उसने माफी मांगने को कहा था। लेकिन कामरा ने माफी मांगने से इनकार कर दिया है। अपने हलफनामे में उन्होंने कहा कि चुटकुले हकीकत नहीं हैं। उन्होंने लिखा, “मेरा ट्वीट न्यायपालिका में लोगों के विश्वास को कम करने के इरादे से नहीं किया गया। ऐसे में अगर सुप्रीम कोर्ट मानता है कि मैंने सीमा पार की है और वे मेरे इंटरनेट को अनिश्चितकाल के लिए बंद करना चाहते हैं, तो मैं भी अपने कश्मीरी दोस्तों की तर्ज पर 15 अगस्त को ‘हैप्पी इंडिपेंडेंस डे’ पोस्ट कार्ड लिखूंगा।” कामरा का कहना है कि लोकतंत्र में सत्ता की किसी भी संस्था को आलोचना से परे मानना तर्कहीन और अलोकतांत्रिक है। हलफनामे में उन्होंने यह भी कहा, “मैं न्यायालयों के कई फैसलों से असहमत हूं लेकिन इस बेंच से वादा करता हूं कि मैं किसी भी फैसले का मुस्कराहट के साथ सम्मान करूंगा और इस मामले में इस बेंच या सुप्रीम कोर्ट की अवेहलना नहीं करूंगा क्योंकि वह वास्तव में अदालत की अवमानना होगी।” कामरा ने रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी की जमानत के बाद सुप्रीम कोर्ट और जज के बारे में विवादित ट्वीट किए थे, इसके बाद कोर्ट में उनके खिलाफ याचिका दायर की गई थी।

तेजस्वी प्रसाद यादव

तेजस्वी यादव

राजद नेता ने राज्य के पहले मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी, लेकिन तस्वीर राज्य के पहले उपमुख्यमंत्री अनुग्रह नारायण सिंह की थी। जदयू ने तंज कसा, तो राजद ने उन्हें भावना समझने की सलाह दी।

जय शाह

जय शाह

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव एशियन क्रिकेट काउंसिल के नए अध्यक्ष बन गए हैं। उन्हें सर्वसम्मति से चुना गया। शाह बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के प्रमुख नजमुल हसन पापोन की जगह लेंगे। एसीसी के अध्यक्ष बनने वाले वे सबसे युवा हैं।

लियोनेल मेसी

मेसी

दिग्गज फुटबॉलर का बार्सिलोना के साथ चार सीजन के लिए वर्तमान अनुबंध करीब 49 अरब रुपये का है। 2017 में किया गया करार किसी खिलाड़ी के साथ हुआ सबसे महंगा अनुबंध था। मेसी को इस राशि का लगभग आधा हिस्सा टैक्स के तौर पर देना होता है।

कदमों के निशां

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से