Home » खेल » टूर्नामेंट » हिजाब पहनने की बजाय भारत की इस खिलाड़ी ने ईरान टूर्नामेंट में हिस्सा लेने से किया इनकार

हिजाब पहनने की बजाय भारत की इस खिलाड़ी ने ईरान टूर्नामेंट में हिस्सा लेने से किया इनकार

JUN 13 , 2018

भारत की फेसम चेस प्लेयर सौम्या स्वामीनाथन ने अगले महीने ईरान में 26 जुलाई से 4 अगस्त के बीच होने वाले चेस टूर्नामेंट में खेलने से इनकार कर दिया है। उन्होंने इस एशियन चैम्पियनशिप टूर्नामेंट से खुद को बाहर कर लिया है। इसके पीछे का कारण उन्होंने हिजाब पहनना बताया है।

इस बात की जानकारी सौम्या ने फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिए देते हुए कहा कि उन्होंने मुस्लिम देश ईरान में हिजाब पहनने की अनिवार्यता के विरोध में यह फैसला लिया। चेस स्टार सौम्या ने कहा कि हिजाब पहनने को लेकर की जाने वाली जबरदस्ती उनके मानवाधिकार के खिलाफ है।

उनकी आजादी धर्म और अधिकार के खिलाफ है: स्वामीनाथन

29 वर्षीय सौम्या का मानना है कि यह उनकी आजादी धर्म और अधिकार के खिलाफ है। सौम्या ने फेसबुक की पोस्ट के जरिए लिखा, मुझे बुर्का पहनने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए, ऐसा करना मेरे मानवाधिकार का उल्लंघन है, इसके साथ ही मेरे बोलने, सोचने और धर्म को मानने के अधिकारों का भी उल्लंघन हो रहा है। अपने अधिकारों की रक्षा करने के लिए मुझे ईरान नहीं जाना चाहिए।'

खिलाड़ियों के अधिकारों पर ध्यान नहीं दिया जाता: चेस प्लेयर सौम्या

साथ ही, सौम्या का यह ही कहना है कि ऑफिशियस चैम्पियनशिप जैसे टूर्नामेंट का आयोजन करते हुए खिलाड़ियों के अधिकारों पर ध्यान नहीं दिया जाता। उन्हें इस टूर्नामेंट में हिस्सा न ले पाने का दुख भी है लेकिन उनका कहना है कि कुछ बातों को लेकर समझौता नहीं करना चाहिए।

<iframe src="https://www.facebook.com/plugins/post.php?href=https%3A%2F%2Fwww.facebook.com%2Fpermalink.php%3Fstory_fbid%3D2177807325593182%26id%3D218386564868611&width=500" width="500" height="269" style="border:none;overflow:hidden" scrolling="no" frameborder="0" allowTransparency="true" allow="encrypted-media"></iframe>

सौम्या से पहले इस खिलाड़ी ने हिजाब पहनने से किया था इनकार

गौरतलब है कि यह पहला मौका नहीं है जब ईरान में होने वाले किसी अहम टूर्नामेंट में हिजाब पहनने को लेकर किसी ने इनकार किया है। इससे पहले साल 2016 में भारत की पिस्टल शूटर हीना सिद्धू ने भी एशियन एयरगन शूटिंग चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने से मना कर दिया था।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.