Home खेल हॉकी एफआईएच सीरीज फाइनल्स: भारत का शानदार आगाज, रूस को 10-0 से रौंदा

एफआईएच सीरीज फाइनल्स: भारत का शानदार आगाज, रूस को 10-0 से रौंदा

आउटलुक टीम - JUN 07 , 2019
एफआईएच सीरीज फाइनल्स: भारत का शानदार आगाज, रूस को 10-0 से रौंदा
एफआईएच सीरीज फाइनल्स: भारत का शानदार आगाज, रूस को 10-0 से रौंदा
आउटलुक टीम

भारत ने गुरुवार को भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले गए एफआईएच मेन्स सीरीज फाइनल्स के अपने पहले मैच में कमजोर रूस को 10-0 से रौंदा और 2020 ओलिंपिक में क्वॉलिफाइ करने के अभियान की शानदार शुरुआत की। यह टीम की रूस के खिलाफ 40 साल में सबसे बड़ी जीत है। इसके पहले टीम ने 2008 में रूस को 8-0 से हराया था। हरमनप्रीत और आकाशदीप ने दो-दो गोल किए। 

अमित रोहिदास शुरू से ही आक्रमक दिखे

भारत ने हॉकी के अपने कौशल का बेहतरीन प्रदर्शन किया और रूस को पूरी तरह पछाड़ दिया। मैच की शुरुआत में, भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन वह इसे गोल में नहीं तबदील नही कर सका। स्थानीय खिलाड़ी अमित रोहिदास ने पहले क्वार्टर में खेल की गति को बनाए रखने में कामयाबी हासिल की और शुरू से ही लक्ष्य की तलाश में सर्कल में प्रवेश करते रहे।

ऐसे हुए गोल

पूल-ए के इस एकतरफा मुकाबले में ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह ने 32वें और 48वें तथा स्ट्राइकर आकाशदीप सिंह ने 41वें और 55वें मिनट में 2-2 गोल दागे। नीलकांत शर्मा ने 13वें, सिमरनजीत सिंह ने 19वें, अमित रोहिदास ने 20वें, वरुण कुमार ने 33वें, गुरसाहिबजीत सिंह ने 38वें और विवेक सागर प्रसाद ने 45वें मिनट में गोल किए। 

भारत ने की धीमी शुरुआत

भारत ने हालांकि धीमी शुरुआत की, वह भी एक ऐसी टीम के खिलाफ जो वर्ल्ड रैंकिंग में 22वें स्थान पर काबिज है। पहले हाफ में भारतीय टीम थोड़ी ढीली दिखी और कुछ मौकों पर मौकों को गोल में नहीं बदल सकी लेकिन एक बार लय बनाने के बाद उसने लगातार गोल दागे।

नीलकांत ने किया पहला गोल

विश्व रैंकिंग पर पांचवें स्थान पर काबिज भारत के लिए 13वें मिनट में नीलकांत ने गोल की शुरुआत की। अगले ही सेकंड में नीलकांत को फिर गोल करने का मौका मिला जब रूसी गोलकीपर मरात गाफोरोव ने इसे रोक दिया। 19वें मिनट में भारत ने बढ़त दोगुनी कर दी जब सुमित की रिवर्स हिट के गोलकीपर द्वारा रोके जाने के बाद रीबाउंड पर सिमरनजीत ने गोल कर दिया। 

युवा प्रसाद ने भी किया एक गोल

एक मिनट में भारत को तीसरा पेनल्टी कॉर्नर मिला जब रोहिदास ने 3-0 से बढ़त बनाने में कोई गलती नहीं की। मेजबान को एक और शॉर्ट कॉर्नर मिला लेकिन टीम इसका फायदा नहीं उठा सकी। बाद में भारतीय टीम ने रूस के लचर डिफेंस पर इच्छानुसार गोल दागे। हरमनप्रीत और वरुण ने लगातार मिनट में दो पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील किया जबकि गुरसाहिबजीत और आकाशदीप ने क्रमश: 38वें और 41वें मिनट में दो फील्ड गोल दागे। युवा प्रसाद ने भी अपना नाम स्कोरशीट में नाम दर्ज कराया जिसके बाद हरमनप्रीत ने पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदला। हूटर बजने से पांच मिनट पहले आकाशदीप ने दूसरा गोल किया। अब पूल के दूसरे मैच में भारतीय टीम पोलैंड से भिड़ेगी।

शीर्ष दो टीमों को मिलेगा ओलंपिक कोटा

टोक्यो 2020 ओलंपिक में क्वालीफाई करने की चाह में एशिया, यूरोप, अफ्रीका और उत्तरी अमेरिका की आठ टीमें शीर्ष दो स्थान के लिए जूझ रही हैं, क्योंकि केवल शीर्ष दो टीमों को ओलंपिक क्वालीफायर कोटा दिया जाएगा। भारत अगला मैच 10 जून को उज्बेकिस्तान के खिलाफ खेलेगा।

(एजेंसी इनपुट)

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से