Home खेल सामान्य युवराज सिंह ने क्रिकेट को कहा अलविदा, यादगार रहेंगी उनकी ये पारियां

युवराज सिंह ने क्रिकेट को कहा अलविदा, यादगार रहेंगी उनकी ये पारियां

आउटलुक टीम - JUN 10 , 2019
युवराज सिंह ने क्रिकेट को कहा अलविदा, यादगार रहेंगी उनकी ये पारियां
युवराज सिंह ने क्रिकेट को कहा अलविदा, यादगार रहेंगी उनकी ये पारियां
आउटलुक टीम

भारत को 2011 का वर्ल्ड कप जिताने में अहम भूमिका निभाने वाले युवराज सिंह ने आज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। भारत के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडरों में से एक, युवराज सिंह ने भारत के लिए 40 टेस्ट, 304 एकदिवसीय और 58 टी-20 में भाग लिया। उन्होंने अपने करिअर का आखिरी वनडे मैच 30 जनवरी 2017 को वेस्ट इंडीज के खिलाफ एंटीगुआ में खेला था। इसके अलावा युवराज ने अपना आखिरी टी-20 मैच 1 फरवरी 2017 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। युवराज सिंह ने अपना आखिरी टेस्ट मैच दिसंबर 2012 में इंग्लैंड के ही खिलाफ खेला था।

अंडर-19 वर्ल्‍ड कप में दोहरा शतक से हुई शुरूआत

12 दिसंबर 1981 को जन्मे युवराज सिंह ने 2000 में अंडर-19 वर्ल्‍ड कप के दौरान अपने दूसरे वनडे मैच में ही दोहरा शतक जमाकर दुनिया भर के क्रिकेट के चाहने वालों की नजरों आ गए थे। श्रीलंका के खिलाफ खेले गए इस मैच में युवराज सिंह ने जबरदस्‍त बल्‍लेबाजी करते हुए सेलेक्‍टर्स का ध्‍यान अपनी ओर खींचा। वैसे तो याद रखने वाली उनकी बहुत सी पारियां हैं लेकिन यहां हम नजर डालते हैं युवराज सिंह की कुछ बेहतरीन पारियों पर।

84 बनाम ऑस्ट्रेलिया (नैरोबी, 2000)

एक युवा युवराज, जो अपने दूसरे वनडे और अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय पारी खेल रहे थे, ने ग्लेन मैकग्राथ, ब्रेट ली और जेसन गिलेस्पी जैसे ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण के सामने 80 गेंदों में 84 रनों की पारी खेली थी। उनकी इस पारी ने भारत को एकदिवसीय मैचों में ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ लगातार सात मैचों की हार को जीत में तब्दील किया।

69 बनाम इंग्लैंड (लॉर्ड्स, 2002)

नेटवेस्ट ट्रॉफी फाइनल की पारी ने युवराज को आने वाले वर्षों के लिए भारत की वनडे लाइन-अप में एक मुख्य बल्लेबाज के रूप में स्थापित किया। नेटवेस्‍ट सीरीज के दौरान इंग्‍लैंड के खिलाफ युवराज सिंह की मोहम्‍मद कैफ के साथ खेली गई पारी को उनके फैंस आज तक नहीं भुला सके हैं। भारत ने 24वें ओवर में वीरेंद्र सहवाग, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और सचिन तेंडुलकर को 146 रनों पर ही ढ़ेर कर दिया जबकि टीम के सामने 326 रनों के विशाल स्कोर था। जब ऐसा लग रहा था कि भारत की उम्मीदें धराशायी हो गई हैं, तो युवराज ने मोहम्मद कैफ के साथ सिर्फ 106 गेंदों पर 121 रन की साझेदारी कर भारत को जीत दिलाई थी। इस मैच में युवराज सिंह ने तेज तर्रार 69 रन बनाए थे।

58 बनाम इंग्लैंड (डरबन, 2007)

पहले टी-20 वर्ल्‍ड कप में युवराज सिंह ने अपने शानदार प्रदर्शन से कई रिकॉर्ड बना दिए थे। इंग्‍लैंड के खिलाफ खेले गए मैच में युवराज सिंह ने तेज गेंदबाज स्‍टुअर्ट ब्रॉड की छह गेंदों पर छह छक्‍के लगाकर रिकॉर्ड कायम कर दिया। उनका यह रिकॉर्ड आज तक कोई भी खिलाड़ी नहीं तोड़ सका है। 17वें ओवर में बल्लेबाजी करने आए युवराज ने सिर्फ 12 गेंदों पर सबसे तेज टी-20 अर्धशतक भी जमाया था।

70 बनाम ऑस्ट्रेलिया (डरबन, 2007)

टी-20 वर्ल्‍ड कप के दौरान सेमीफाइनल मैच में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ युवराज सिंह की ताबड़तोड़ बल्‍लेबाजी को याद किया जाता है। यह वर्ल्‍ड कप भारतीय टीम ने जीता था। आठवें ओवर में नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने आए युवराज ने 30 गेंदों पर 70 रन की तूफानी पारी खेली थी।

169 बनाम पाकिस्तान (बैंगलोर, 2007)

युवराज ने वास्तव में कभी भी अपने सीमित ओवरों के विपरीत एक प्रतिष्ठित टेस्ट करिअर नहीं बनाया, अक्सर बेहतरीन स्टार खिलाड़ी वाले भारतीय मध्य क्रम में जगह के लिए संघर्ष करते थे। हालांकि, उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ एक महत्वपूर्ण 100 रन बनाए, जिससे भारत को घर में एक टेस्ट श्रृंखला जीतने में मदद मिली। पहली पारी में 61/4 रनों पर चलते हुए, उन्होंने सौरव गांगुली के साथ 200 रनों की साझेदारी की, जिससे भारत उबर गया और बोर्ड पर 626 रन बना सका। यह मैच ड्रॉ में समाप्त हुआ और भारत तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 से आगे रहा। वह युवराज का आखिरी टेस्ट शतक था।

2011 वर्ल्‍ड कप

2011 वर्ल्‍ड कप युवराज सिंह के लिए सबसे ज्यादा यादगार रहा। उन्‍होंने इस टूर्नामेंट में एक शतक और चार अद्धर्शतक लगाए। इस वर्ल्‍ड कप में उनका शानदार प्रदर्शन बरकरार रहा और युवराज ने 15 विकेट भी हासिल किए। यही वजह रही कि वे चार बार मैन ऑफ द मैच भी चुने गए। पूरे विश्‍व कप टूर्नामेंट में उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन के लिए युवराज को प्‍लेयर ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया। वह ऐसे इकलौते ऑलराउंडर हैं जिन्‍होंने एक वर्ल्‍ड कप टूर्नामेंट में 15 विकेट और 302 रन बनाए हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से