Home खेल सामान्य टोक्यो पैरालिंपिकः 10वें दिन भारत को मिले तीन पदक, अवनि-प्रवीण और हरविंदर बने पदकवीर, मेडल्स की संख्या बढ़कर 13 पर पहुंची

टोक्यो पैरालिंपिकः 10वें दिन भारत को मिले तीन पदक, अवनि-प्रवीण और हरविंदर बने पदकवीर, मेडल्स की संख्या बढ़कर 13 पर पहुंची

आउटलुक टीम - SEP 03 , 2021
टोक्यो पैरालिंपिकः 10वें दिन भारत को मिले तीन पदक, अवनि-प्रवीण और हरविंदर बने पदकवीर, मेडल्स की संख्या बढ़कर 13 पर पहुंची
टोक्यो पैरालिंपिकः 10वें दिन भारत को मिले तीन पदक, अवनि-प्रवीण और हरविंदर बने पदकवीर, मेडल्स की संख्या बढ़कर 13 पर पहुंची
ANI
आउटलुक टीम

भारत ने शुक्रवार को पिछले दो दिन खाली रहने के बाद तीन पदक जीते। सुबह-सुबह, अवनि लेखारा ने महिलाओं की 50 मीटर एयर राइफल निशानेबाजी (50 मीटर राइफल की पी-3 एसएच-1 स्पर्धा) में कांस्य पदक अपने नाम किया। इसके बाद रजत, प्रवीण कुमार पुरुषों की ऊंची कूद टी64 स्पर्धा में दूसरे स्थान पर रहे। वहीं तीरंदाजी में हरविंदर सिंह ने पुरुषों की व्यक्तिगत ओपन श्रेणी में कांस्य पदक जीता। भारत की झोली में फिलहाल 13 पदक हो गए हैं।

अन्य मुकाबलों में बैडमिंटन में सुहास यतिराज को ग्रुप मैच के तीसरे मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा, बावजूद इसके वह सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं। मनोज सरकार भी बैडमिंटन में पुरुष सिंगल्स की एसएल-3 स्प्रर्धा के सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं। जबकि कृष्णा नागर बैडमिंटन में सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहे। वहीं, तरुण ढिल्लन भी अपना बैडमिंटन मैच जीतने में कामयाब रहे। जबकि, बैडमिंटन महिला डबल्स में भारत की पारुल परमार और पलक कोहली की जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा। 

भारतीय तीरंदाज हरविंदर सिंह ने पुरुषों की व्यक्तिगत रिकर्व ओपन में कांस्य पदक अपने नाम कर लिया है। हरविंदर ने शूटऑफ में कोरियाई खिलाड़ी को हराया।

अवनि लेखरा ने महिलाओं की 50 मीटर राइफल की पी-3 एसएच-1 स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर इतिहास रच दिया। उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए ब्रांन्ज मेडल पर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने 445.9 का स्कोर किया और पदक जीतने में कामयाब रहीं। टोक्यो पैरालंपिक में अवनि का यह दूसरा पदक है। इससे पहले वह गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं। 

भारत के एथलीट प्रवीण कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक में इतिहास रच दिया है। उन्होंने पुरुषों की टी-64 स्पर्धा के फाइनल में सिल्वर मेडल जीता। इस मुकाबले में प्रवीण ने 2.07 मीटर की छलांग लगाई। उन्होंने एशिया की तरफ से नया कीर्तिमान भी स्थापित किया।

बैडमिंटन में पुरुषों की एकल स्पर्धा एसएल-4 ग्रुप ए के तीसरे मैच में भारत के सुहास यतिराज हार गए। उन्हें फ्रांस के लुकास माजरु ने 2-0 से हराया।  बैडमिंटन खिलाड़ी तरुण ढिल्लन ने पुरुष सिंगल्स एसएल-4 स्पर्धा में ग्रुप बी में अपना दूसरा मैच जीतने में सफल रहे। इस मुकाबले में उन्होंने कोरिया को केएन शिन को 2-1 से शिकस्त दी। तीसरे मैच में हारने के वे सेमीफाइनल में पहुंचने में कामयाब रहे।

बैडमिंटन मिक्स्ड डबल्स एसएल-3-एसयू-5 स्पर्धा में भारत की पलक कोहली और प्रमोद भगत सेमीफाइनल में पहुंच गए। उन्होंने थाईलैंड के सिरिपॉन्ग और निपाडा को सीधे सेट में 21-15 और 21-19 से हराया।  पुरुषों के शॉटपुट के एफ57 स्पर्धा के फाइनल में भारत की तरफ से सोमन राणा ने चुनौती पेश की। सोमन ने अपने छह प्रयास में 13.81, 12.92, X,X, 13.36, 13.37 मीटर का थ्रो किया। इसमें 13.81 मीटर उनका श्रेष्ठ थ्रो रहा जो पदक जीतने के लिए काफी नहीं था। सोमन पदक से चूक गए और चौथे स्थान पर रहे। बैडमिंटन की महिला डबल्स एसएल-3-एसयू-5 स्पर्धा में भारत की पारुल परमार और पलक कोहली की जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से