Home खेल सामान्य नेस वाडिया ने गांगुली के सामने आईपीएल में हर मैच से पहले राष्ट्रगान बजाए जाने का प्रस्ताव रखा

नेस वाडिया ने गांगुली के सामने आईपीएल में हर मैच से पहले राष्ट्रगान बजाए जाने का प्रस्ताव रखा

आउटलुक टीम - NOV 08 , 2019
नेस वाडिया ने गांगुली के सामने आईपीएल में हर मैच से पहले राष्ट्रगान बजाए जाने का प्रस्ताव रखा
नेस वाडिया ने गांगुली के सामने आईपीएल में हर मैच से पहले राष्ट्रगान बजाए जाने का प्रस्ताव रखा
आउटलुक टीम

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं। किंग्स इलेवन पंजाब के सह-मालिक नेस वाडिया ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को एक प्रस्ताव भेजा है जिसमें कहा गया है कि 2020 से आईपीएल के हर मैच से पहले राष्ट्रगान बजाया जाना चाहिए। 

प्रो-कबड्डी लीग और आईएसएल में बजता है

बात दें कि मौजूदा समय में अंतरराष्ट्रीय मैच से ठीक पहले राष्ट्रगान बजता है। वाडिया का मानना है कि विश्व के नंबर वन क्रिकेट लीग में इस नियम का पालन किया जाना चाहिए। इसके अलावा पंजाब के सह-मालिक ने आईपीएल के उद्घाटन समारोह में भारी खर्च में कटौती किए जाने को लेकर बीसीसीआई की सराहना की। आपको बता दें कि राष्ट्रगान इंडियन सुपर लीग (फुटबॉल) और प्रो-कबड्डी लीग में बजाया जाता है।

उद्घाटन समारोह नहीं करेंगे

 वाडिया ने कहा कि यह एक शानदार कदम है। यह महत्वपूर्ण है कि हम कोई भी उद्घाटन समारोह नहीं करेंगे। मैंने हमेशा ही उद्घाटन समारोह से इतर किसी अहम चीजों के बारे में सोचा है। बीसीसीआई को जो कदम उठाना चाहिए वह है आईपीएल के हर मैच से पहले राष्ट्रगान को बजाना अनिवार्य बनाया जाए।

सौरव गांगुली से है उम्मीद

उन्होंने आगे कहा कि मैंने बीबीसीआई को पहले ही इस संबंध में लिखा था और अब मैं अध्यक्ष सौरव गांगुली को भी इस बारे में लिखा है। राष्ट्रगान इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) और प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) में बजाया जाता है। यह इंडियन प्रीमियर लीग है। हमें इस पर गर्व होना चाहिए कि हमारे पास एक बेहतरीन राष्ट्रगान और एक बेहतरीन लीग है। नेशनल बास्केटबॉल एसोसिएशन (एनबीए) के हर मैच से पहले भी राष्ट्रगान बजता है।

नो-बॉल के लिए होगा नया अंपायर

इस हफ्ते, आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने नो-बॉल की निगरानी के लिए एक अतिरिक्त अंपायर शुरू करने पर सहमति व्यक्त की है। बीसीसीआई के एक सूत्र ने एएनआई को बताया हम नो बॉल की निगरानी के लिए एक विशेष अंपायर की तलाश कर रहे हैं ताकि उन्हें जल्दी पता लगाया जा सके और रिप्ले और अजीब परिस्थितियों से बचा जा सके।

पावर प्लेयर नहीं होगा अगले संस्करण लागू

सूत्र ने यह भी पुष्टि की कि टूर्नामेंट के अगले संस्करण में 'पावर प्लेयर' के विचार को लागू नहीं किया जाएगा। पावर प्लेयर में प्रत्येक टीम को प्रति गेम एक स्थानापन्न बनाने की अनुमति दी जाएगी। पावर प्लेयर नियम लागू नहीं किया जा सकता है क्योंकि इसके कार्यान्वयन और योजना के लिए समय बहुत कम है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से