Home खेल सामान्य जानिए कैसे तेज गेंदबाजों के दौर में अलग थे अब्दुल कादिर

जानिए कैसे तेज गेंदबाजों के दौर में अलग थे अब्दुल कादिर

आउटलुक टीम - SEP 07 , 2019
जानिए कैसे तेज गेंदबाजों के दौर में अलग थे अब्दुल कादिर
नहीं रहे गुगली के बादशाह अब्दुल कादिर, तेज गेंदबाजों के दौर में कमाया खूब नाम
आउटलुक टीम

पाकिस्तान के पूर्व स्पिन दिग्गज अब्दुल कादिर का शुक्रवार को 63 साल की उम्र में निधन हो गया। बताया जा रहा है कि उनका निधन कार्डियक अटैक के कारण हुआ है। अब्दुल कादिर वह गेंदबाज जो पाकिस्तान क्रिकेट में चमकते तेज गेंदबाजों के दौर में अपनी वैरायटी से स्पिन गेंदबाजी की नई परिभाषा गढ़ गया। कादिर कलाई से गेंद को घुमाने वाले स्पिनर थे, आक्रमकता ऐसी की तेज गेंदबाज इस मामले में पीछे छूट जाए।

छह अलग-अलग तरीके की गेंद फेंकने के लिए थे मशहूर

1955 में लाहौर में जन्मे कादिर अपने समय के बेहतरीन लेग स्पिनर थे। उन्होंने 67 टेस्ट मैच खेले और 236 विकेट लिए। इसके अलावा 104 वनडे मैचों में उन्होंने 132 विकेट लिए थे। कादिर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के मुख्य चयनकर्ता भी रहे। इसके अलावा उन्होंने लंबे समय तक मैचों में कमेंट्री भी की। कादिर को गुगली का किंग कहा जाता था। एक ओवर में छह अलग-अलग तरीके की गेंद फेंकते, उनके फ्लिपर के कहर से शायद की कोई बल्लेबाज अपना विकेट बचा ले, कादिर ने स्पिन का जलवा तब बिखेरा था, जब शेन वार्न का उदय नहीं हुआ था। अपने अंतरराष्ट्रीय करिअर में उन्होंने 368 विकेट लिए थे। अब्दुल कादिर जिन्होंने शेन वॉर्न को लेग स्पिन की कमान थमाई। हालांकि ग्राहम गूच कादिर को वॉर्न से भी बेहतर स्पिनर मानते थे।

1993 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था आखिरी मैच

उन्होंने पाकिस्तान की तरफ से दो आईसीसी विश्व कप भी खेले थे। कादिर 1983 और 1987 में खेले गए विश्व कप में पाकिस्तान की टीम का हिस्सा थे। टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में कादिर के नाम नौ विकेट लेने का कारनामा दर्ज है। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ साल 1987 में 56 रन देकर नौ बल्‍लेबाजों को आउट किया था। लाहौर में खेले गए टेस्ट में कादिर द्वारा बनाया गया यह रिकॉर्ड आज भी पाकिस्तान क्रिकेट में अटूट है। कादिर ने 1977 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया और 1993 में श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय मैच के रूप में अपना आखिरी मैच खेला।

पीसीबी ने दी श्रद्धांजलि

कादिर के निधन पर शोक जताते हुए पीसीबी ने ट्वीट किया। इसमें दुख जताते हुए बोर्ड ने कहा- ‘पीसीबी उस्ताद अब्दुल कादिर के निधन से सकते में है। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति गहरी संवेदना।

शोएब अख्तर और वसीम अकरम ने भी भेजे संदेश

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शोएब अख्तर ने ट्विटर पर वीडियो संदेश जारी कर के कादिर को श्रद्धांजलि दी। शोएब ने कहा कि क्रिकेट में लेग स्पिन को दोबारा जिंदा करने का श्रेय पूरी तरह उन्हें जाता है। कादिर ने गेंदबाजों की एक पूरी पीढ़ी को लेग स्पिन बॉलिंग की प्रेरणा दी।

इसके अलावा वसीम अकरम ने लिखा कि उन्हें कई कारणों से जादूगर कहा जाता था, मगर उन्होंने जब मेरी आंखों में देख कहा कि तुम अगले 20 सालों तक पाकिस्तान के लिए खेलोगे, तो मैंने उन पर भरोसा किया। वे सच में जादूगर थे। अब्दुल कादिर हमें आपकी कमी महसूस होगी, लेकिन हम आपको कभी नहीं भूलेंगे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से