Home खेल सामान्य धोनी के बाद पीएम मोदी ने सुरेश रैना को भी लिखी चिट्ठी, कहा- 'आप 'रिटायर' होने के लिए बहुत युवा हो'

धोनी के बाद पीएम मोदी ने सुरेश रैना को भी लिखी चिट्ठी, कहा- 'आप 'रिटायर' होने के लिए बहुत युवा हो'

आउटलुक टीम - AUG 21 , 2020
धोनी के बाद पीएम मोदी ने सुरेश रैना को भी लिखी चिट्ठी, कहा- 'आप 'रिटायर' होने के लिए बहुत युवा हो'
धोनी के बाद पीएम मोदी ने सुरेश रैना को भी लिखी चिट्ठी, कहा- 'आप 'रिटायर' होने के लिए बहुत युवा हो'
आउटलुक टीम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में संन्यास लेने वाले पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर सुरेश रैना को पत्र लिखकर उन्हें जीवन की दूसरी पारी के लिए शुभकामनाएं दी हैं। बता दें कि सुरेश रैना ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ ही 15 अगस्त को अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। 33 साल के रैना के इस फैसले ने क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया था।

मोदी ने रैना के खेल की तारीफ की है और उन्हें एक शानदार क्रिकेटर बताया है। मोदी ने रैना की फील्डिंग की खूब तारीफ की है और कहा है कि गेंद से भी रैना पर कप्तान का भरोसा कायम था। रैना ने भी मोदी के इस पत्र पर आभार व्यक्त किया है और कहा है कि देश के प्रधानमंत्री से इस तरह के प्रेरक शब्द वाकई बहुत बड़ी बात है। पीएम मोदी की चिट्ठी को ट्विटर पर शेयर कर रैना ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जब हम खेलते हैं, हम अपना खून और पसीना बहाते हैं। इस देश के लोगों और देश के पीएम द्वारा पसंद किए जाने से बेहतर कोई सराहना नहीं है। शुभकामनाओं के लिए पीएम का धन्यवाद। मैं इन्हें आभार के साथ स्वीकार करता हूं।

बता दें कि बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने मध्यक्रम में भारत के लिए कई उपयोगी पारियां खेली थीं। इसके अलावा उनकी गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डर्स में भी की जाती थी।

पीएम मोदी ने लिखा, '15 अगस्त को आपने अनपे जीवन का सबसे मुश्किल फैसला लिया। मैं 'रिटायरमेंट' का शब्द इस्तेमाल नहीं करना चाहता हूं क्योंकि आप 'रिटायर' होने के लिए बहुत ही छोटे और ऊर्जावान हो। क्रिकेट के मैदान पर एक बहुत यादगार सफर के बाद आप अपने जीवन की दूसरी पारी के लिए तैयारी कर रहे हो।'

मोदी ने अपने पत्र में रैना को लिखा, 'पीढ़ियां न सिर्फ आपको एक अच्छे बल्लेबाज के रूप में याद करेंगी बल्कि एक उपयोगी गेंदबाज के तौर पर भी आपकी भूमिका को भुलाया नहीं जा सकेगा। आप एक ऐसे गेंदबाज रहे जिस पर मौका पड़ने पर कप्तान भरोसा कर सकता है। आपकी फील्डिंग शानदार थी।इस दौर के कुछ सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय कैचों पर आपकी छाप नजर आती है। आपने जितने रन बचाए उनका हिसाब लगाने में तो कई दिन लग जाएंगे।'

पीएम ने लिखा, 'खिलाड़ियों की प्रशंसा मैदान पर तो होती ही है, मैदान के बाहर भी होती है। आपका जुझारूपन कई युवाओं को प्रोत्साहित करेगा। अपने क्रिकेट करियर के दौरान, आपने चोट और अन्य परेशानियों का सामना किया लेकिन हर बार चुनौतियों से पार पाया।'

 

उन्होंने आगे लिखा, 'सुरेश रैना हमेशा टीम स्प्रिट के साथ चले। आप निजी रेकॉर्ड के लिए नहीं बल्कि टीम और भारत के गौरव के लिए खेले। मैदान पर आपका जुझारूपन कमाल रहता था और हमने देखा भी कि विपक्षी टीम के विकेट पर आपका जश्न अलग ही होता था।'

पीएम मोदी ने लिखा, 'समाज सेवा में भी आपका योगदान सराहनीय है। महिला सशक्तिकरण, स्वच्छ भारत और जरूरतमंदों की मदद के लिए आप हमेशा आगे रहे। भारत को खेल की दुनिया में लीडर बनाने के लिए आपने जो कुछ किया, उसके लिए शुक्रिया।'

रैना ने पीएम का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा, 'जब हम खेलते हैं तो देश के लिए अपना खून-पसीना बहाते हैं। इस देश के लोगों के प्यार से बड़ी और कोई दूसरी प्रेरणा नहीं और जब देश के प्रधानमंत्री आपके लिए ऐसा कहें तो यह और बड़ी बात होती है। मोदी जी आपके प्रेरक शब्दों और शुभमकानाओं के लिए शुक्रिया। मैं इसे तहेदिल से स्वीकार करता हूं। जय हिंद।'

इससे पहले गुरुवार को पीएम ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी खत कर भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान की तारीफ की थी। मोदी ने धोनी को लिखा था कि उन्होंने छोटे शहर से आने वाले युवाओं को बड़ा सपना देखने की प्रेरणा दी। मोदी ने धोनी को भारतीय क्रिकेट में एक घटना बताया था जिसने उस परिपाटी को बदल दिया कि कामयाबी सिर्फ बड़े शहरों में रहने वाले और महंगी शिक्षा हासिल करने वालों को ही मिल सकती है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से