Home » खेल » क्रिकेट » ऑस्ट्रेलिया श्रृंखला पर है कोहली की नजर

ऑस्ट्रेलिया श्रृंखला पर है कोहली की नजर

FEB 13 , 2017

कोहली ने कहा कि टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में इस सत्र में अब तक के अच्छे प्रदर्शन को ही आगे बढ़ाना चाहती है। कोहली ने बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच में भारत की 208 रन से जीत के बाद कहा, हमारे लिये इस सत्र में इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला काफी बड़ी थी लेकिन हमने उसे 4-0 से जीता और हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसे मजबूती प्रदान करना चाहते हैं। हर किसी का दिल और दिमाग उस श्रृंखला पर लगा है।

भारतीय टीम को बांग्लादेश को दो बार आउट करने के लिए संघर्ष करना पड़ा और मैच पांचवें दिन चाय के विश्राम से कुछ देर पहले समाप्त हुआ। लगातार चार टेस्ट श्रृंखलाओं में दोहरे शतक जड़ने का नया रिकार्ड बनाने वाले कोहली ने बल्लेबाजी के लिए अनुकूल पिच पर अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन की तारीफ की। उन्होंने कहा,  निश्चित तौर पर यह बल्लेबाजी के लिए अच्छा विकेट था। टॉस जीतना अच्छा रहा और बड़ा स्कोर खड़ा करने से मदद मिली। बांग्लादेश ने पहली पारी में अच्छी बल्लेबाजी की। हम अपनी रणनीति को अच्छी तरह से लागू करना चाहते थे। हमें अभी एक बड़ी श्रृंखला खेलनी है और गेंदबाज लय में है। कुल मिलाकर यह हमारे लिये अच्छा मैच रहा।

मैन आफ द मैच बने कोहली ने कहा, गेंदबाजों ने बल्लेबाजों को आउट करने का तरीका निकाला जिससे हमारी टीम के जज्बे का पता चलता है। हम अति उत्साह में नहीं आए। इशांत का स्पैल बेजोड़ था। यदि आपके पास दो विश्वस्तरीय स्पिनर हो तो आप तेज गेंदबाजों को गेंदबाजी करने के लिए कह सकते हैं और उनके और स्पिनरों के बीच भागीदारी शानदार रही। उमेश वास्तव में शानदार गेंदबाजी कर रहा है।

Advertisement

कप्तान के रूप में अपने शानदार रिकार्ड के बारे में कोहली ने कहा, यह बहुत अच्छा है। पिछले साल जो कुछ हुआ मैंने उसकी उम्मीद नहीं की थी। मैं नई सोच के साथ प्रत्येक मैच में उतरता हूं, आक्रामक बनने की कोशिश करता हूं लेकिन बहुत अधिक नहीं। अभी मैं जैसी बल्लेबाजी कर रहा हूं उसमें सहज महसूस कर रहा है।

बांग्लादेश ने दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम के खिलाफ अच्छा मुकाबला किया लेकिन उसके कप्तान मुशफिकर रहीम ने कहा कि अगर उन्होंने अवसरों को भुनाया होता तो कहानी भिन्न होती। रहीम ने कहा, हमने गेंदबाजी में कई अवसर पैदा किए। यदि हम भारत को 550 या 600 पर रोक लेते तो हमारे पास मौका होता। दूसरी पारी में बल्लेबाजी करना आसान नहीं था। भारत के पास कई विकल्प थे, केवल स्पिनर ही नहीं बल्कि तेज गेंदबाजों के मामले में भी। उम्मीद है कि खिलाड़ी इससे सबक लेंगे और भविष्य में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

उन्होंने कहा,  मुझे वास्तव में अपने खिलाडि़यों पर गर्व है। यहां तक कि निचले क्रम के बल्लेबाजों ने जज्बा दिखाया। हमें छोटी-छोटी चीजों में सुधार करने की जरूरत है। अभी श्रीलंका में दो मैच खेलने हैं। उम्मीद है कि हम वहां मौकों का फायदा उठाएंगे। हमने प्रत्येक पारी में 100 से अधिक ओवर खेले तथा मेहदी हसन ने अच्छी गेंदबाजी और बल्लेबाजी की। ताइजुल इस्लाम ने अच्छी गेंदबाजी लेकिन मुझे लगता है कि हमारा क्षेत्रारक्षण अच्छा नहीं रहा।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.