Home खेल क्रिकेट IPL 2021: खिलाड़ियों की लगी बोली, सबसे महंगे बिके मोरिस, जैमिसन, मैक्सवेल और रिचर्डसन पर भी बरसा पैसा

IPL 2021: खिलाड़ियों की लगी बोली, सबसे महंगे बिके मोरिस, जैमिसन, मैक्सवेल और रिचर्डसन पर भी बरसा पैसा

आउटलुक टीम - FEB 18 , 2021
IPL 2021: खिलाड़ियों की लगी बोली, सबसे महंगे बिके मोरिस, जैमिसन, मैक्सवेल और रिचर्डसन पर भी बरसा पैसा
IPL 2021: खिलाड़ियों की लगी बोली, सबसे महंगे बिके मोरिस, जैमिसन, मैक्सवेल और रिचर्डसन पर भी बरसा पैसा
File Photo
आउटलुक टीम

आईपीएल 2021 को लेकर खिलाड़ियों की बोली लगाई जा रही है। अब तक क्रिस मॉरिस को राजस्थान रॉयल्स ने 16.25 करोड़ में खरीदा है, जो आईपीएल के इतिहास में सबसे महंगे खिलाड़ी बने हैं। दक्षिण अफ्रीका के आलराउंडर क्रिस मोरिस को राजस्थान रॉयल्स ने गुरुवार को आईपीएल नीलामी में जैसे ही 16.25 करोड़ रुपए की हैरतअंगेज कीमत पर खरीदा वैसे ही मोरिस आईपीएल नीलामी के इतिहास में सबसे महंगे खिलाड़ी बन गए। मोरिस के बाद न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जैमिसन को 15 करोड़, ऑस्ट्रेलिया के आलरांडर ग्लेन मैक्सवेल को 14.25 करोड़ और ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज झाई रिचर्डसन को 14 करोड़ रुपए की कीमत मिली है, जबकि भारतीय आफ स्पिन आलरांडर कृष्णप्पा गौतम 9.25 करोड़ रुपए की कीमत के साथ आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे अनकैप्ड खिलाड़ी बन गए हैं।

मोरिस ने भारत के युवराज सिंह का रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) ने 2015 की नीलामी में 16 करोड़ रुपये में खरीदा था। राजस्थान टीम ने मोरिस को खरीदने के लिए उस समय होड़ में छलांग लगाई, जब उनकी कीमत 10.25 करोड़ रुपए पहुंच चुकी थी और मुंबई इंडियंस मोरिस को हथियाने के करीब पहुंच गई थी, लेकिन पंजाब ने फिर 13.50 करोड़ की बोली लगाई और बोली के 16 करोड़ पर पहुंचने के बाद पंजाब ने अपने हाथ खींच लिए। मोरिस का आधार मूल्य 75 लाख रुपए था। राजस्थान ने अपने 34.85 करोड़ रुपए के पर्स में से 16.25 करोड़ मोरिस को खरीदने पर खर्च कर दिए।

नीलामी में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम ने ऑस्ट्रेलियाई आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल को 14.25 करोड़ रुपए में खरीदा, लेकिन इसके तुरंत बाद ही राजस्थान रॉयल्स ने मोरिस को 16.25 करोड़ रुपए में खरीद लिया। 33 वर्ष के मोरिस 2015 के सत्र में राजस्थान टीम का हिस्सा रहे थे और तब उन्होंने 11 मैचाें में 311 रन बनाने के अलावा 13 विकेट लिए थे। उन्होंने 70 आईपीएल मैचों में 157.88 के स्ट्राइक रेट से 551 रन बनाए हैं और 7.81 के इकोनॉमी रेट से 80 विकेट भी लिए हैं। वह पिछले सत्र में बेंगलुरु टीम का हिस्सा थे, लेकिन पेट की चोट के कारण नौ मैच ही खेल पाए थे, जिनमें उन्होंने 11 विकेट लिए थे। मोरिस की पिछले साल की कीमत 6.25 करोड़ रुपए थी, जिसमें इस बार 10 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है।

छह फुट आठ इंच लंबे 26 वर्षीय तेज गेंदबाज जैमिसन को भारतीय कप्तान विराट कोहली वाली बेंगलुरु टीम ने 15 करोड़ रुपए में खरीद लिया। बेंगलुरु ने इस तरह मैक्सवेल और जैमिसन को खरीदने पर 29.25 करोड़ रुपए खर्च डाले, जबकि उसके पास नीलामी के लिए 35.90 करोड़ रुपए का पर्स था।

मैक्सवेल का पिछला सत्र निराशाजनक रहा था और वह 13 मैचों में कुल 108 रन बना पाए थे और एक भी छक्का लगाने में नाकाम रहे थे। पंजाब टीम ने इस सत्र में मैक्सवेल को रिलीज कर दिया था और वह दो करोड़ रुपए के आधार मूल्य के साथ नीलामी में उतरे। आईपीएल नीलामी में मैक्सवेल को भी मोटी कीमत हासिल हुई। बेंगलुरु ने मैक्सवेल को खरीदने के लिए चेन्नई सुपर किंग्स से कड़ा मुकाबला किया और 14.25 करोड़ रुपए में उन्हें हासिल कर लिया। मैक्सवेल की यह कीमत उनके पिछले सत्र से लगभग चार करोड़ रुपए ज्यादा है। मैक्सवेल पिछले सत्र में पंजाब किंग्स से खेले थे और उस समय उन्हें 10.75 करोड़ रुपए मिले थे।

नीलामी में रिचर्डसन को पंजाब टीम ने 14 करोड़ रुपए की कीमत पर खरीदा और इसके साथ ही रिचर्डसन इस नीलामी के चौथे महंगे खिलाड़ी बन गए। चेन्नई सुपर किंग्स ने इंग्लैंड के आफ स्पिन आलराउंडर मोईन को खरीदने में सफलता हासिल की और उन्हें सात करोड़ रुपए में खरीद लिया। मोईन का आधार मूल्य दो करोड़ रुपए था।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से