Home खेल क्रिकेट आईपीएल-2020, SRH Vs CSK: चेन्नई ने हैदराबाद को 20 रनों से दी मात, जीत की राह पर लौटे धोनी के धुरंधर

आईपीएल-2020, SRH Vs CSK: चेन्नई ने हैदराबाद को 20 रनों से दी मात, जीत की राह पर लौटे धोनी के धुरंधर

आउटलुक टीम - OCT 14 , 2020
आईपीएल-2020, SRH Vs CSK: चेन्नई ने हैदराबाद को 20 रनों से दी मात, जीत की राह पर लौटे धोनी के धुरंधर
आईपीएल-2020, SRH Vs CSK: चेन्नई ने हैदराबाद को 20 रनों से दी मात, जीत की राह पर लौटे धोनी के धुरंधर
बीसीसीआई
आउटलुक टीम

शेन वाटसन (42) और अंबाटी रायुडू (41) की शानदार पारियों तथा रवींद्र जडेजा (नाबाद 25, एक विकेट, दो कैच) के जबरदस्त हरफनमौला प्रदर्शन की बदौलत चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को मंगलवार को 20 रन से हराकर जीत की राह पर वापसी कर ली। चेन्नई की आठ मैचों में यह तीसरी जीत है और उसके छह अंक हो गए हैं जबकि हैदराबाद को आठ मैचों में पांचवीं हार का सामना करना पड़ा है। हैदराबाद के भी छह अंक हैं।

चेन्नई ने 20 ओवर में छह विकेट पर 167 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और हैदराबाद को आठ विकेट पर 147 रन पर रोक लिया। चेन्नई की तरफ से कर्ण शर्मा और ड्वेन ब्रावो ने दो-दो विकेट लिए जबकि जडेजा ने दो कैच लपके। हैदराबाद के लिए केन विलियम्सन ने सर्वाधिक 57 रन बनाये।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई टीम ने अपनी रणनीति में परिवर्तन किया और सैम करेन को ओपनिंग में फाफ डू प्लेसिस के साथ उतारा। डू प्लेसिस तीसरे ओवर की पहली गेंद पर खाता खोले बिना आउट हो गए। उन्हें तेज गेंदबाज संदीप शर्मा ने विकेटकीपर जानी बेयरस्टो के हाथों कैच कराया। शेन वाटसन इस मैच में ओपनिंग के बजाये तीसरे नंबर पर उतरे और डू प्लेसिस के जल्दी आउट होने के कारण वाटसन की भूमिका ओपनिंग जैसी ही हो गयी। करेन ने ओपनिंग में मिले मौके के साथ न्याय करते हुए कुछ बेहतरीन शॉट खेले। करेन ने चौथे ओवर में खलील अहमद की गेंदों पर दो चौके और दो छक्के उड़ाते हुए 22 रन बटोर डाले। हालांकि संदीप ने करेन को पांचवें ओवर में बोल्ड कर दिया। चेन्नई का दूसरा विकेट 35 के स्कोर पर गिरा और इसमें करेन का योगदान 31 रन का रहा। करेन ने 21 गेंदों की पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाए।
वाटसन और अंबाटी रायुडू ने तीसरे विकेट के लिए 81 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। दोनों ने शानदार बल्लेबाजी की और हैदराबाद के खतरनाक लेग स्पिनर राशिद खान को हावी नहीं होने दिया। वाटसन ने राशिद पर दो और रायुडू ने एक छक्का मारा। रायुडू को खलील अहमद ने अपने कप्तान डेविड वार्नर के हाथों कैच कराया। रायुडू ने 34 गेंदों पर 41 रन में तीन चौके और दो छक्के लगाए। रायुडू के आउट होने के कुछ दौर बाद वाटसन भी टी नटराजन की गेंद पर बड़ा शॉट मारने के चक्कर में मनीष पांडेय के हाथों कैच हो गए। वाटसन ने 38 गेंदों पर 42 रन में एक चौका और तीन छक्के लगाए। रायुडू का विकेट 116 और वाटसन का विकेट 120 के स्कोर पर गिरा।

जमे हुए बल्लेबाजों के आउट होने के बाद अब जिम्मेदारी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और रवींद्र जडेजा पर आ गयी कि वे टीम के स्कोर को मजबूती दें। धोनी ने नटराजन के इसी ओवर में लगातार दो चौके जड़े। जडेजा ने 18 वें ओवर में संदीप की गेंद को चौके के लिए निकाला। इस ओवर की पांचवीं गेंद पर संदीप के हाथों से धोनी का रिटर्न कैच छूट गया। गेंद संदीप के बाएं हाथ से टकरा कर छिटक गयी। धोनी ने अगली गेंद पर दो रन लिए और 18 ओवर के बाद टीम का स्कोर 138 रन पहुंच गया।
19 वें ओवर में जडेजा ने नटराजन की गेंद को चौके के लिए निकाला। नटराजन की चौथी गेंद पर धोनी का हेलीकॉप्टर शॉट था और गेंद छक्के के लिए सीमा पार कर गयी लेकिन अगली गेंद पर वह केन विलियम्सन को आसान कैच दे बैठे। धोनी ने 13 गेंदों पर 21 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया।

ड्वेन ब्रावो आने के साथ ही आखिरी ओवर की पहली गेंद पर बोल्ड हो गए। खलील अहमद ने ब्रावो को पवेलियन भेजा। जडेजा ने चौथी गेंद पर छक्का मारा और पांचवीं गेंद पर चौका लगा दिया। छठी गेंद पर दो रन गए और टीम का स्कोर 167 रन पहुंच गया। जडेजा 10 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 25 रन बनाकर नाबाद रहे। चेन्नई ने आखिरी तीन ओवर में 38 रन बटोरे। हैदराबाद की तरफ से संदीप, खलील और नटराजन ने दो-दो विकेट लिए।


लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद की शुरुआत अच्छी नहीं रही। कप्तान डेविड वार्नर 13 गेंदों में नौ रन बनाने के बाद सैम करेन को उनकी ही गेंद पर आसान कैच थमा बैठे। मनीष पांडेय को ड्वेन ब्रावो ने सीधे थ्रो से रन आउट कर दिया। पांडेय चार रन ही बना सके। जानी बेयरस्टो लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा की तेज गेंद पर बोल्ड हो गए। बेयरस्टो ने 24 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 23 रन बनाये।

केन विलियम्सन और प्रियम गर्ग ने चौथे विकेट के लिए 40 रन जोड़े। यह जोड़ी खतरनाक होती कि उससे पहले लेग स्पिनर कर्ण शर्मा ने गर्ग को जडेजा के हाथों कैच करा दिया। गर्ग ने 18 गेंदों पर एक चौके की मदद से 16 रन बनाये। हैदराबाद का चौथा विकेट 99 के स्कोर पर गिरा। हैदराबाद की उम्मीदें अब केन विलियम्सन पर टिक गयी थीं जो दूसरे छोर से रन बटोर रहे थे। ब्रावो ने 17वें ओवर में विजय शंकर से छक्का खाने के बाद उन्हें जडेजा के हाथों कैच करा दिया। शंकर ने सात गेंदों पर 12 रन बनाये। विजय का विकेट 117 के स्कोर पर गिरा।

विलियम्सन ने ब्रावो पर चौका मारकर अपना अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने अगले ओवर में कर्ण शर्मा पर चौका लेकिन अगली गेंद पर ठाकुर को कैच दे बैठे। विलियम्सन ने 39 गेंदों पर 57 रन में सात चौके लगाए। उनका विकेट 126 के स्कोर पर गिरा लेकिन राशिद खान ने अगली दो गेंदों पर छक्का और चौका मारकर मैच का रोमांच बनाये रखा। आखिरी गेंद पर शाहबाज नदीम ने चौका मारा।
हैदराबाद को अब आखिरी 12 गेंदों पर जीत के लिए 27 रन चाहिए थे। 19वां ओवर शार्दुल ठाकुर डाल रहे थे। ठाकुर ने आखिरी गेंद पर राशिद को आउट किया और चेन्नई की जीत का मार्ग प्रशस्त कर दिया। राशिद हिट विकेट हो गए। राशिद ने आठ गेंदों में 14 रन बनाये। हैदराबाद को अंतिम छह गेंदों में 22 रन चाहिए थे। लेकिन लक्ष्य दूर हो चुका था और चेन्नई ने जीत की राह पर वापसी कर ली। नदीम आखिरी ओवर में ब्रावो का शिकार बने।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से