Home खेल क्रिकेट विदेश में जीत दर्ज करने पर दुगुने अंक मिलने चाहिए: विराट कोहली

विदेश में जीत दर्ज करने पर दुगुने अंक मिलने चाहिए: विराट कोहली

आउटलुक टीम - OCT 09 , 2019
विदेश में जीत दर्ज करने पर दुगुने अंक मिलने चाहिए: विराट कोहली
विदेश में जीत दर्ज करने पर दुगुने अंक मिलने चाहिए: विराट कोहली
आउटलुक टीम

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को कहा कि विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में विदेश में जीत दर्ज करने पर दुगुने अंक मिलने चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि इस चैम्पियनशिप से पांच दिनी प्रारूप का स्तर बेहतर हुआ है। फिलहाल श्रृंखला में ‘क्लीन स्वीप’ करने पर एक टीम को 120 अंक मिलते हैं चाहे वह दो मैचों की श्रृंखला हो या पांच मैचों की।

भारत 160 अंक लेकर शीर्ष पर है

विदेश में खेली गई हो या अपनी धरती पर। कोहली ने कहा कि यदि आप मुझसे अंकतालिका बनाने को कहते तो मैं विदेश में जीत मिलने पर दुगुने अंक देता। मैं पहले सत्र के बाद यह बदलाव देखना चाहूंगा। भारत 160 अंक लेकर शीर्ष पर है। भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज को 2-0 से हराकर 120 अंक लिए।

खिलाड़ियों को अपने खेल का स्तर लगातार बेहतर करना होगा

इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका पर पहले टेस्ट में 203 रन से मिली जीत के 40 अंक मिले हैं। कोहली ने खुशी जताई कि अब कोई टीम ड्रा के लिए खेलना नहीं चाहती। उन्होंने कहा कि हर मैच का महत्व बढ गया है। पहले तीन मैचों की श्रृंखला में आप ड्रा के लिए खेल सकते थे लेकिन अब टीमें जीतने के लिए खेल रही हैं ताकि अतिरिक्त अंक ले सकें। यह टेस्ट क्रिकेट के लिए अच्छा है। भारतीय कप्तान ने कहा कि मैच अब अधिक रोमांचक हो रहे हैं। हमें हर सत्र में पेशेवर प्रदर्शन करना होगा। खिलाड़ियों को अपने खेल का स्तर लगातार बेहतर करना होगा।

कुलदीप को पता है वे क्यों बाहर हैं

साथ ही विराट कोहली इस बात से खुश है कि टीम के खिलाड़ियों ने ‘निस्वार्थ रवैया’ अपनाया है और ‘उनकी सोच में लचीलापन’ है जिससे तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के खेल में बदलाव आया और कुलदीप यादव को पता है कि वह टीम से क्यों बाहर हुए है।

उन्होने कहा शमी जहां पूरी तरह लय में है वहीं युवा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यह सोच रहे होंगे कि अपने पिछले टेस्ट (आस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में) में पांच विकेट लेने के बाद भी वह टीम से बाहर क्यों है। कप्तान ने हालांकि कहा कि कुलदीप को पता है कि उन्हें अंतिम 11 में जगह क्यों नहीं मिली। उन्होंने कहा कि टीम में कोई भी स्वर्थी नहीं है और हर कोई यह सोचता है कि वह टीम के लिए क्या कर सकता है। कुलदीप के बारे में भी ऐसा ही है। वह समझता है कि भारत में खेलते समय अश्विन और जडेजा हमारी पहली पसंद होंगे क्योंकि वे बल्ले से भी योगदान देने में सक्षम है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से