Home खेल क्रिकेट चेन्नै ने हारा मैच पर वॉटसन ने जीता दिल, चोटिल होने के बावजूद खेलते रहे

चेन्नै ने हारा मैच पर वॉटसन ने जीता दिल, चोटिल होने के बावजूद खेलते रहे

आउटलुक टीम - MAY 14 , 2019
चेन्नै ने हारा मैच पर वॉटसन ने जीता दिल, चोटिल होने के बावजूद खेलते रहे
चेन्नै ने हारा मैच पर वॉटसन ने जीता दिल, चोटिल होने के बावजूद खेलते रहे
आउटलुक टीम

12 मई को हुए आईपीएल के 12वें सीजन का खिताबी मुकाबला भले ही मुंबई के हाथों चेन्नै हार गई हो, लेकिन सीएसके के शेन वॉटसन ने अपनी पारी से सबका दिल जीता। आखिरी गेंद में हुए मैच के फैसले में मुंबई ने बाजी मारी हो। मगर चेन्नै के जांबाज ओपनर शेन वॉटसन ने अपनी दिलेरी से हर किसी को प्रभावित किया है। उन्होने चोटिल होने के बावजूद 59 गेंदो पर 80 रन बनाए, जिसमें आठ चौके और चार छक्के शामिल थे।

हरभजन सिंह ने किया खुलासा

दरअसल फाइनल मैच हारने के बाद चेन्नै के ही स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने वॉटसन को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है। भज्जी ने बयान दिया कि शेन वॉटसन के घुटने में चोट लगी हुई थी। वॉटसन के घुटने से खून भी बह रहा था, लेकिन वॉटसन ने ये बात टीम के किसी खिलाड़ी को नहीं बताई और वो बल्लेबाजी करते रहे। टीम को इसके बारे में तब पता चला जब वो आउट होकर वापस आ गए।

हरभजन सिंह ने अपने ट्विट में लिखा कि क्या आप लोग उसके घुटने पर खून देख सकते हैं, उन्हें खेल के बाद 6 टांके आए, डाइव करते समय उन्हे चोट लग गई लेकिन वे किसी को बताए बिना बल्लेबाजी करते रहै। उन्होंने शेन वाटसन को टैग करते हुए लिखा यह है हमारा@ srwatson33, जिसने कल रात हमारे लिए लगभग खेल जीत ही लिया था।

पैर में लगे छह टांके

मीडिया रिपोर्टस की माने तो मैच के बाद वॉटसन के पैर में छह टांके लगे। आईपीएल की साइट पर मौजूद तस्वीरों में भी देखा जा सकता है कि शेन वॉटसन के बाएं पैर के घुटने से काफी खून बह रहा है। खून इतना ज्यादा है कि पैड पहनने के बावजूद खून इतना ज्यादा निकल चुका है कि वो ऊपर से भी दिख रहा है।

अकेले योध्दा की तरह खेलते रहे

चेन्नै की ओर से शेन वॉटसन एकमात्र ऐसे बल्लेबाज रहे जिसने आखिरी दमतक मुंबई का सामना किया। एक छोर से जब चेन्नै के लगातार विकेट गिरते जा रहे थे तब इस कंगारू बल्लेबाज ने क्रीज पर अंगद की तरह पैर जमाए रखा। बड़े मैच के इस बड़े खिलाड़ी ने 59 गेंदों पर आठ चौके और चार छक्के की मदद से 80 रन बनाए। हालांकि उन्हें तीन जीवनदान भी मिले, लेकिन वह फिर भी चेन्नै को जीत नहीं दिला पाए। वॉटसन के रहने से चेन्नै की जीत की उम्मीदें बरकरार थीं लेकिन 19वें ओवर की चौथी गेंद पर वे रन आउट हो गए।

अपने चौथे आईपीएल खिताब से भी चूकी चेन्नै

आपको याद हो कि चेन्नै के गेंदबाजों ने मुंबई को 20 ओवर्स में आठ विकेट के नुकसान पर 149 रन पर रोक दिया था। मगर आखिरी ओवर में 9 रन और आखिरी गेंद पर 2 रन नहीं बना सकी और अपने चौथे आईपीएल खिताब से भी चूक गई।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से