Home खेल क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया 18 साल बाद इंग्लैंड में एशेज सीरीज जीतने के लिए उतरेगा मैदान पर

ऑस्ट्रेलिया 18 साल बाद इंग्लैंड में एशेज सीरीज जीतने के लिए उतरेगा मैदान पर

आउटलुक टीम - SEP 12 , 2019
ऑस्ट्रेलिया 18 साल बाद इंग्लैंड में एशेज सीरीज जीतने के लिए उतरेगा मैदान पर
ऑस्ट्रेलिया 18 साल बाद इंग्लैंड में एशेज सीरीज जीतने के लिए उतरेगी मैदान पर
आउटलुक टीम

ऑस्ट्रेलियाई टीम आखिरी टेस्ट के लिए आज ओवल के मैदान पर उतरेगी तो उसका लक्ष्य 2001 के बाद इंग्लैंड में पहली एशेज सीरीज जीतना होगा और शानदार फार्म में चल रहे स्टीव स्मिथ उसके ‘ट्रंप कार्ड’ साबित होंगे। टिम पेन की टीम ने ओल्ड ट्रैफर्ड में इंग्लैंड को हराकर पांच मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली। एक मैच बाकी रहते ऑस्ट्रेलिया ने एशेज अपने पास रखना सुनिश्चित कर लिया।

ऑस्ट्रेलिया ने एक तो इंग्लैंड ने दो बदलाव किए

पांचवें टेस्ट के लिए इंग्लैंड टीम ने अपनी अंतिम एकादश घोषित कर दी है। अपनी प्लेइंग इलेवन में इंग्लैंड ने दो बदलाव किए हैं। सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय और ऑलराउंडर क्रेग ऑवर्टन को टीम में जगह नहीं मिल पाई है। दोनों की जगह सैम करन और क्रिस वोक्स अपनी प्रतिभा दिखाएंगे। वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया ने केवल एक ही बदलाव किया है ट्रेविस हेड की जगह ऑलराउंडर मिचेल मार्श को प्लेइंग इलेवन में जगह दी है।

ऑलराउंडर क्रिस वोक्स को चौथे टेस्ट में प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बनाया गया था। उस वक्त उन्हें ड्रॉप कर ऑवर्टन को स्क्वॉड में शामिल करने की बात किसी को हजम नहीं हुई थी। हालांकि वह कुछ खास नहीं कर पाए। सैम करन ने भारत के पिछले दौरे पर टेस्ट सीरीज में जबरदस्त प्रदर्शन किया था और ऐसे में इंग्लैंड को उनसे फिर से ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

स्मिथ के बल्ले पर अंकुश लगाना जरूरी

सीरीज में बराबरी के लिए विश्व कप विजेता इंग्लैंड को स्मिथ के बल्ले पर अंकुश लगाना होगा जो पांच पारियों में 134 से अधिक की औसत से 671 रन बना चुके हैं। गेंद से छेड़खानी प्रकरण में एक साल का प्रतिबंध झेलने के बाद लौटे स्मिथ ने मैनचेस्टर में दोहरे शतक समेत तीन शतक और दो अर्धशतक जमाए हैं। ऑस्ट्रेलिया की ताकत उसकी तेज गेंदबाजी भी रही है। जोश हेजलवुड और दुनिया के नंबर एक गेंदबाज पैट कमिंस मिलकर 42 विकेट ले चुके हैं। 

दुनिया के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज और गेंदबाज के टीम में होने से ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर की दिक्कतें भी कम हुई हैं। उन्होंने दूसरे खिलाड़ियों से भी अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि उन्हें अनुभव हासिल करना होगा। हम खुशकिस्मत हैं कि स्टीव हमारी टीम में है। मैंने किसी को कभी ऐसे बल्लेबाजी करते नहीं देखा। युवा बल्लेबाजों को उनका अनुसरण करना होगा।

कोच ने किया जो रूट का बचाव

दूसरी ओर 50 ओवरों का विश्व कप पहली बार जीतने वाली इंग्लैंड टीम सीरीज में बराबरी के इस आखिरी मौके को गंवाना नहीं चाहेगी। टेस्ट क्रिकेट में विफलता के बाद जो रूट की टीम में स्थिति पर सवाल उठने लगे हैं। पिछले कोच ट्रेवर बेलिस ने हालांकि उनका बचाव किया है। उन्होंने कहा कि वह किसी तरह से दबाव में न रहें। उनसे कोई सवाल नहीं किए जा रहे हैं। हर किसी के करिअर में ऐसा दौर आता है कि रन नहीं बनते लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से