Home » राजनीति » क्षेत्रीय दल » शिवसेना का तंज, देश में ‘मौनी बाबा’ पर विदेश में बोलते हैं मोदी

शिवसेना का तंज, देश में ‘मौनी बाबा’ पर विदेश में बोलते हैं मोदी

APR 20 , 2018

भाजपा की सबसे पुरानी सहयोगी पार्टी शिवसेना ने विदेश में घरेलू मुद्दे उठाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की है। पार्टी ने कहा कि मोदी देश में तो ‘मौनी बाबा’ हैं, पर विदेश में जाकर बोलते हैं। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि ब्रिटेन ने भारत के भगोड़े विजय माल्या को शरण दे रखा है पर प्रधानमंत्री वहां से ‘खाली हाथ’ लौट रहे हैं।

मोदी मानें मनमोहन की सलाह

सामना में कहा गया है कि मोदी को बोलने के मामले में अपने पूर्ववर्ती प्रधानमंत्री  मनमोहन सिंह ने जैसा करने को कहा है वैसा करना चाहिए। मोदी जब प्रधानमंत्री नहीं थे तो वह मनमोहन की चुप्पी पर सवाल उठाते थे। इसी के जवाब में मनमोहन सिंह ने हाल में मोदी से कहा था कि उऩ्हें अपनी सलाह पर अमल करना चाहिए और अहम मुद्दों पर बोलना चाहिए। संपादकीय में कहा गया है कि मनमोहन सिंह की सलाह उचित है। शिवसेना ने कहा है कि भक्त (मोदी समर्थक) हवा में उड़ रहे हैं और सार देश इसे महसूस कर रहा है।

लेख में कहा गया है कि हालांकि मनमोह सिंह ने जो कहा है वह अर्धसत्य है। मोदी देश में ‘मौनी बाबा’ बन गए लेकिन विदेश में बोल रहे हैं। मराठी दैनिक ने कहा है कि लगता है कि मोदी संभवतः देश में हो रही घटनाओं से परेशानी मबसूस करते हैं और इस पर नहीं बोलना ही बेहतर समझते हैं।

लंदन, न्यूयॉर्क ले जानी होगी देश की राजधानी

मोदी पर कटाक्ष करते हुए शिवसेना ने कहा है कि यदि कोई मोदी को बोलते देखना चाहता है तो इसके लिए देश की राजधानी को लंदन, न्यूयॉर्क, टोकियो, पेरिस या जर्मनी ले जाना पड़ेगा। प्रधानमंत्री ने लंदन में रेप के मामलों पर बयान दिया। यह उनके संवेदनशील दिमाग का एक हिस्सा है। वह भावुक हो जाते हैं और उऩके दिमाग में अन्याय के खिलाफ चिंगारी भड़कने लगती है और हम देख रहे हैं कि यह चिंगारी विदेशी धरती पर आग के रूप में बदल गई है।

क्या पीएम को देश से बाहर घरेलू मुद्दों पर बोलने का है हक?

संपादकीय में सवाल किया गया है कि क्या प्रधानमंत्री को रेप जैसे मुद्दे पर विदेशी धरती पर बोलने का हक है? क्यों अपमानित करने वाली घटनाओं पर विदेश में बात की जाती है? क्यों बाहर भ्रष्टाचार, रेप और कमजोर देश की तस्वीर बाहर पेश की जाती है? यह भी कहा गया है कि मोदी ने जापान के दौरे के दौरान भारत में कालाधन और भ्रष्टाचार के बारे में बयान दिया था।

शिवसेना ने कहा, “आपकी पिछली सरकार से दुश्मनी हो सकती है। आपकी कांग्रेस और गांधी परिवार से भी गहरी दुश्मनी हो सकती है। लेकिन विदेशी धरती पर देश में हो रही घटनाओं पर बोलना किसी को भी शोभा नहीं देता है।” लेख में कहा गया है कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने देश को लूटा और भाग गया। माल्या भी लंदन में है। पर हमारे प्रधानमंत्री उस देश में जाते हैं जिसने इन्हें शरण दे रखी है पर वे खाली हाथ लौट आते हैं।

शिवसेना ने कहा कि लेकिन भक्त इस पर टिप्पणी करना नहीं चाहते हैं। अब मनमोहन सिंह बोलने लगे और मोदी चुप हो गए हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा है कि वे मात्र 15 मिनट में मोदी को चुप करा देंगे। यह इस बात का प्रमाण है कि मोदी मनमोहन सिंह हो गए है।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.