Home » राजनीति » क्षेत्रीय दल » हवाला कारोबारियों से संबंधों के चलते केजरीवाल ने किया था नोटबंदी का विरोधः मिश्रा

हवाला कारोबारियों से संबंधों के चलते केजरीवाल ने किया था नोटबंदी का विरोधः मिश्रा

MAY 19 , 2017

कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के बाद मनी लांड्रिंग के आरोप में दिल्ली के वकील रोहित टंडन की एक करोड़ रुपये की संपत्ति प्रवर्तन निदेशालय ने जब्त की थी। रोहित की ही कंपनी से आप ने पैसा लिया था। तब क्या केजरीवाल इसी के चलते नोटंबदी का विरोध कर रहे थे और क्यों पूरे देश में घूमकर उन्होंने नोटबंदी के खिलाफ अभियान चलाया क्योंकि उनके आदमी ने काला धन जमा कर रखा था और प्रवर्तन एजेंसियां छापा मार रही थीं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल का कॉलर मेरे हाथ में है और वह जरूर तिहाड़ जाएंगे।

पूर्व मंत्री ने दावा किया कि जिन चार फर्जी कंपनियों का नाम सामने आया है उसमें मुकेश कुमार का लेना देना नहीं है। मुकेश को बलि का बकरा बनाया जा रहा है। आयकर विभाग व ईडी हेम प्रकाश शर्मा को ढूंढ रही है, जिन्हें बचाने का प्रयास किया जा रहा है। केजरीवाल में हिम्मत है तो वह पद छोड़कर जांच करवाएं। मालूम हो कि कल मुकेश नाम के दिल्ली के एक कारोबारी ने आप को चंदे के तौर पर रकम देने की बात एक न्यूज चैनल पर की थी।

इसके जबाव में आप नेता संजय सिंह ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि पांच अप्रैल 2014 को ली गई जिस रकम को लेकर आरोप लगाए जा रहे हैं वह बाकायदा बैंक के जरिए ली गई थी। इसमें किसी तरह का गैर कानूनी काम नहीं किया गया। दो साल पहले के इस मामले में जांच एजेंसियां कुछ भी पता लगाने में क्यों नाकाम रही। आप के प्रवक्ता राघव चढ्ढा ने भी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि 15 हजार लोग हमें हर साल चंदा देते हैं। चंदा देने वाली हर कंपनी की जांच करना हमारे लिए संभव नहीं है। भाजपा व कांग्रेस में गलत तरह से चंदा आता है जबकि हमारे यहां पारदर्शी सिस्टम है।

Advertisement

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.