Home » राजनीति » क्षेत्रीय दल » हवाला कारोबारियों से संबंधों के चलते केजरीवाल ने किया था नोटबंदी का विरोधः मिश्रा

हवाला कारोबारियों से संबंधों के चलते केजरीवाल ने किया था नोटबंदी का विरोधः मिश्रा

MAY 19 , 2017
दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया है कि हवाला आपरेटर्स से संबंधों के चलते मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नोटबंदी का विरोध किया था।

कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के बाद मनी लांड्रिंग के आरोप में दिल्ली के वकील रोहित टंडन की एक करोड़ रुपये की संपत्ति प्रवर्तन निदेशालय ने जब्त की थी। रोहित की ही कंपनी से आप ने पैसा लिया था। तब क्या केजरीवाल इसी के चलते नोटंबदी का विरोध कर रहे थे और क्यों पूरे देश में घूमकर उन्होंने नोटबंदी के खिलाफ अभियान चलाया क्योंकि उनके आदमी ने काला धन जमा कर रखा था और प्रवर्तन एजेंसियां छापा मार रही थीं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल का कॉलर मेरे हाथ में है और वह जरूर तिहाड़ जाएंगे।

Advertisement

पूर्व मंत्री ने दावा किया कि जिन चार फर्जी कंपनियों का नाम सामने आया है उसमें मुकेश कुमार का लेना देना नहीं है। मुकेश को बलि का बकरा बनाया जा रहा है। आयकर विभाग व ईडी हेम प्रकाश शर्मा को ढूंढ रही है, जिन्हें बचाने का प्रयास किया जा रहा है। केजरीवाल में हिम्मत है तो वह पद छोड़कर जांच करवाएं। मालूम हो कि कल मुकेश नाम के दिल्ली के एक कारोबारी ने आप को चंदे के तौर पर रकम देने की बात एक न्यूज चैनल पर की थी।

इसके जबाव में आप नेता संजय सिंह ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि पांच अप्रैल 2014 को ली गई जिस रकम को लेकर आरोप लगाए जा रहे हैं वह बाकायदा बैंक के जरिए ली गई थी। इसमें किसी तरह का गैर कानूनी काम नहीं किया गया। दो साल पहले के इस मामले में जांच एजेंसियां कुछ भी पता लगाने में क्यों नाकाम रही। आप के प्रवक्ता राघव चढ्ढा ने भी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि 15 हजार लोग हमें हर साल चंदा देते हैं। चंदा देने वाली हर कंपनी की जांच करना हमारे लिए संभव नहीं है। भाजपा व कांग्रेस में गलत तरह से चंदा आता है जबकि हमारे यहां पारदर्शी सिस्टम है।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.