Home » राजनीति » क्षेत्रीय दल » कोविंद जीतें या मीरा, राष्ट्रपति का अनुसूचित जाति से होना हमारे आंदोलन की बड़ी जीत: मायावती

कोविंद जीतें या मीरा, राष्ट्रपति का अनुसूचित जाति से होना हमारे आंदोलन की बड़ी जीत: मायावती

JUL 17 , 2017
राष्ट्रपति चुनाव को लेकर मायावती ने खुशी जताई है। बसपा सुप्रीमो ने कहा है कि राष्ट्रपति का अनुसूचित जाति से होना हमारे आंदोलन की बड़ी जीत है।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान के दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है, “कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन जीतता है, राष्ट्रपति अनुसूचित जाति से होगा यह हमारे आंदोलन और पार्टी के लिए बड़ी जीत है।”

Advertisement


मायावती ने कहा कि यह पहली बार है कि सत्ता और विपक्ष की ओर से दलित उम्मीदवार मैदान में उतारा गया है। जीत या हार किसी की भी हो लेकिन राष्ट्रपति दलित ही होगा। मायावती ने कहा कि यह देन बाबा साहेब अंबेडकर की है, माननीय कांशीराम जी की है और बहुजन समाज पार्टी की है।

गौरतलब है कि मायावती की पार्टी बसपा का लोकसभा में कोई सांसद नहीं हैं, वहीं उत्तर प्रदेश में बसपा के 19 विधायक हैं। साथ ही बसपा की ओर से राज्यसभा में 6 सासंद हैं। 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.