Home » राजनीति » संसद » लोकसभा में अब डोगरी-कोंकड़ी समेत पांच और भाषाओं में बोल सकते हैं सदस्य

लोकसभा में अब डोगरी-कोंकड़ी समेत पांच और भाषाओं में बोल सकते हैं सदस्य

AUG 10 , 2018

लोकसभा के सदस्य अब हिंदी, अंग्रेजी और कुछ प्रादेशिक भाषाओं के अलावा पांच अन्य भाषाओं में अपनी बात सदन में रख सकेंगे। इन पांच भाषाओं में डोगरी, कश्मीरी, कोंकणी, संथाली और सिंधी शामिल हैं। इन सभी भाषाओं का अनुवाद भी किया जाएगा।

इसकी सूचना लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने गुरुवार को सदन में दी।

अब तक सदन में 17 भाषाओं के अनुवाद की ही व्यवस्था थी लेकिन अब सदस्य 22 भाषाओं में से किसी भी भाषा में बोल सकेंगे और उनका अनुवाद भी सुना जा सकेगा. सुमित्रा महाजन ने सदस्यों को सूचित करते हुए कहा कि अब सदन के सदस्य संविधान की आठवीं अनुसूची में सूचीबद्ध 22 भाषाओं में से किसी में भी अपनी बात रख सकते हैं।

उन्होंने कहा कि राज्यसभा के सहयोग से इनके अनुवाद की व्यवस्था की गई है. जो सदस्य इन भाषाओं में बोलना चाहते हैं उन्हें 24 घंटे पहले इसकी सूचना देनी होगी ताकि राज्यसभा के सहयोग से व्यवस्था की जा सके।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.