Home राजनीति राष्ट्रीय दल अर्थव्यवस्था पर फिर चिदंबरम का ट्वीट- देश को इस निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?

अर्थव्यवस्था पर फिर चिदंबरम का ट्वीट- देश को इस निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?

आउटलुक टीम - SEP 11 , 2019
अर्थव्यवस्था पर फिर चिदंबरम का ट्वीट- देश को इस निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?
अर्थव्यवस्था पर फिर चिदंबरम का ट्वीट- देश को इस निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?
File Photo
आउटलुक टीम

आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता पी चिदंबरम तिहाड़ जेल में है। लेकिन वो ट्वीट के जरिए सियासी तीर चला रहे हैं। चिदंबरम लगातार देश की अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। उन्होंने आज ट्वीट कर गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर गहरी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि देश को इस गिरावट और निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है।

चिदंबर ने बुधवार को ट्वीट किया, 'मुझे अर्थव्यवस्था की गहरी चिंता है। गरीब लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। कम आय, कम नौकरियां, कम व्यापार और कम निवेश गरीब और मध्यम वर्ग को प्रभावित करते हैं। देश को इस गिरावट और निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?'

न्याय और अन्याय के बीच अंतर करने की क्षमता से चकित हूं

एक इन्य ट्वीट में चिदंबरम ने कहा, ‘मैंने अपने परिवार को मेरी ओर से ये ट्वीट करने के लिए कहा है। आप सभी का समर्थन के लिए शुक्रिया। मुझे कहना होगा कि मैं गरीब लोगों (जिनसे मुझे पिछले कुछ दिनों में मिलने और बातचीत करने का मौका मिला है) की न्याय और अन्याय के बीच अंतर करने की क्षमता से चकित हूं’।

भारतीय अर्थव्यवस्था किस तरफ जा रही है, इस बात के लिए फिक्रमंद हूं

इससे पहले भी उन्होंने कहा था कि वो तो सिर्फ इस बात के लिए फिक्रमंद हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था किस तरफ जा रही है। जेल की वैन में मुस्कराते हुए उन्होंने कहा कि यह सबको पता है कि क्या कुछ चल रहा है।

तिहाड़ जेल में कैद हैं चिदंबरम

बता दें कि 73 साल के कांग्रेस नेता को 5 सितंबर को तिहाड़ जेल में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत पर भेज दिया गया था। सीबीआई की 15 दिनों की हिरासत पूरी होने के बाद कोर्ट ने चिदंबरम की जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। हालांकि इन सब के बावजूद चिदंबरम ट्विटर की मदद से खुद पर लगे आरोपों और अर्थव्यवस्था पर अपना पक्ष रख रहे हैं। वहीं, अपने ट्वीट में चिदंबरम ने पहले ही साफ कर दिया है कि वे ये परिवार की मदद से कर पा रहे हैं।

अप्रैल से जून के क्वार्टर में 5 प्रतिशत ग्रोथ रेट को बताया था शर्मनाक

3 सितंबर को सीबीआई की हिरासत के बारे में पूछे जाने पर भी चिदंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था पर चिंता व्यक्त की थी। उन्होंने अप्रैल से जून के क्वार्टर में 5 प्रतिशत ग्रोथ रेट को शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि 5 प्रतिशत, क्या है 5 प्रतिशत, आपको याद है 5 प्रतिशत?

इस मामले में जेल में बंद हैं चिदंबरम

गौरतलब है कि सीबीआई आईएनएक्स मीडिया को साल 2007 में 305 करोड़ का फोरेन इनवेस्टमेंट मिलने में अनियमितताओं की जांच कर रही है। उस समय चिदंबरम कांग्रेस के नेतृत्व वाली संप्रग सरकार में वित्त मंत्री थे। सीबीआई ने मामले में साल 2017 में 15 मई को एफआईआर दर्ज की थी।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से