Home राजनीति राष्ट्रीय दल शाह के रोड शो पर बवाल जारी, टीएमसी-भाजपा दे रही एक-दूसरे के खिलाफ सबूत

शाह के रोड शो पर बवाल जारी, टीएमसी-भाजपा दे रही एक-दूसरे के खिलाफ सबूत

आउटलुक टीम - MAY 15 , 2019
शाह के रोड शो पर बवाल जारी, टीएमसी-भाजपा दे रही एक-दूसरे के खिलाफ सबूत
शाह के रोड शो पर बवाल जारी, टीएमसी-भाजपा दे रही एक-दूसरे के खिलाफ सबूत
आउटलुक टीम

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान मंगलवार को हुई हिंसा और आगजनी पर अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। टीएमसी ने वीडियो जारी करके आरोप लगाया कि रोड शो के दौरान हुई हिंसा के पीछे भाजपा समर्थकों का हाथ था। जबकि भाजपा की ओर से वीडियो जारी कर टीएमसी पर आरोप लगाया गया है।

तृणमूल कांग्रेस नेता डेरेक ओब्रायन ने अपने ट्विटर अकाउंट से तीन वीडियो जारी किए हैं। इस वीडियो के जरिए उन्होंने आरोप लगाया कि किस तरह अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा के गुंडे उत्पात मचा रहे हैं। इन वीडियो को ओब्रायन ने सबूत के तौर पर पेश किया है।

#पहला_वीडियो

पहले वीडियो में नजर आ रहा है कि भाजपा का झंडा लगी कुछ गाड़ियां सड़क से गुजर रही हैं और भगवा रंग की कमीज पहने, हाथ में भाजपा का झंडा लिए कुछ लोग सड़क किनारे खड़े वाहनों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इनमें से कुछ के हाथ में डंडे हैं तो कुछ पत्थर फेंकते हुए भी दिखाई दे रहे हैं।


#दूसरा_वीडियो

दूसरे वीडियो में जलती हुई गाड़ियों के पास मौजूद भीड़ में कुछ लोग डंडे से वहां खड़े दूसरे वाहन को निशाना बना रहे हैं। पहले से जल रहे वाहन में एक दूसरा वाहन जलने के लिए डालते हुए दिखाई दे रहे हैं।


#तीसरा_वीडियो

तीसरे वीडियो में भीड़ के उपद्रव दिखाया गया है। इन तीनों वीडियो को डेरेक ओब्रायन ने सबूत बताते हुए सीधे तौर पर हिंसा के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।


भाजपा ने वीडियो जारी कर किया पलटवार

भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने भी वीडियो जारी कर टीएमसी पर अमित शाह के रोड शो में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने वीडियो जारी करते हुए लिखा कि टीएमसी समर्थकों ने शाह के रोड शो में व्यवधान पैदा किया जिससे हालात बिगड़ते चले गए।


भाजपा ने ईश्‍वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने पर भी पलटवार किया है। अमित मालवीय ने एक वीडियो ट्वीट कर कहा, 'विद्यासागर की मूर्ति कॉलेज के एक कमरे में ग्‍लास चेंबर के अंदर रखी थी लेकिन ममता बनर्जी ने टूटी हुई मूर्ति का निरीक्षण किया जो सुव्‍यवस्थित तरीके से उनके और मीडिया के लिए बाहर रखी गई थी। सवाल यह है कि वह घटनास्‍थल पर क्‍यों नहीं गईं?'

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से