Home राजनीति राष्ट्रीय दल 'आप' से गठबंधन पर बोले राहुल गांधी, हम 4 सीटें देने को तैयार

'आप' से गठबंधन पर बोले राहुल गांधी, हम 4 सीटें देने को तैयार

आउटलुक टीम - APR 15 , 2019
'आप' से गठबंधन पर बोले राहुल गांधी, हम 4 सीटें देने को तैयार
आप से गठबंधन पर बोले राहुल गांधी, हम 4 सीटें देने को तैयार
FILE PHOTO
आउटलुक टीम

लोकसभा चुनाव में दिल्ली में कांग्रेस और और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच गठबंधन राहुल गांधी ने कहा है कि उनकी पार्टी 'आप' को चार सीटें देने को तैयार हैं।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'कांग्रेस और आप गठबंधन का मतलब भाजपा की हार होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कांग्रेस आप को दिल्ली की चार सीटें देने के लिए तैयार है, लेकिन इसके लिए केजरीवाल जी ने दूसरा यू-टर्न ले लिया। दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं, लेकिन समय निकला जा रहा है।‘ 

केजरीवाल ने ट्वीट का दिया जवाब

अरविंद केजरीवाल ने भी राहुल के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा, 'कौन सा यू-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी। आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है। मुझे दुःख है आप बयान बाज़ी कर रहे हैं। आज देश को मोदी-शाह के ख़तरे से बचाना अहं है। दुर्भाग्य कि आप यूपी और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बाँट कर मोदी जी की मदद कर रहे हैं।'

दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने ट्वीट किया, 'राहुल गांधी 18 सीटों पर भाजपा को हराने के लिए दिलचस्पी क्यों नही दिखा रहे हैं। राहुल जी ने 4 सीट का दरवाजा खोला है तो हमने दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ में 10  सीट पर भाजपा को हराने के लिए दरवाजा खोल रखा है।'

दूसरे राज्य पर नहीं दोहराया जा सकता फैसलाः चाको

कांग्रेस दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने कहा कि आप दिल्ली से बाहर के राज्यों के लिए 18  सीटों पर गठबंधन का सुझाव दे रही है। आइए हम पहले दिल्ली में एक साथ आएं। राहुल जी ने कहा कि हमारे दरवाजे खुले हैं, यह किया जाना चाहिए> एक राज्य में जो भी फैसला होता है उसे दूसरे राज्यों में उसी तरह नहीं दोहराया जा सकता।

पिछले काफी समय से दिल्ली और हरियाणा में आप-कांग्रेस के गठबंधन की कोशिशों की लगातार खबरें आ रही थीं लेकिन कांग्रेस में इसे लेकर एक राय नहीं बन पा रही थी।  

आप नेताओं ने दिए थे संकेत

इससे पहले शनिवार को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी कहा था कि अब यह कांग्रेस को तय करना है कि इस समय उसकी प्राथमिकता मोदी और शाह की जोड़ी को हराना है या ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने का रिकॉर्ड बनाना है। रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी गठबंधन के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को हराने के लिए वह कुछ भी करने को तैयार हैं। ऐसे में राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर अंदरखाने गठबंधन की कोशिशें जारी रहने की चर्चा होने लगी है।

हरियाणा में जेपीपी से गठबंधन

हरियाणा में भी आप ने कांग्रेस से गठबंधन की कोशिशें की लेकिन वहां इस पर बात नहीं बन पाई। इसके बाद आप ने वहां जेजेपी से गठबंधन कर लिया। हरियाणा की 10 सीटों में से 7 सीटों पर जेजेपी और 3 सीटों पर आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी।

लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया की कड़ी में 12 मई को दिल्ली में मतदान होना है और 16 अप्रैल से उम्मीदवारों का नामांकन शुरू हो जाएगा। 23 अप्रैल नामांकन की आखिरी तारीख है। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से