Home राजनीति राष्ट्रीय दल केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने राज्यपाल बनने की दी बधाई तो सुषमा ने कहा- ये खबर सच नहीं है

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने राज्यपाल बनने की दी बधाई तो सुषमा ने कहा- ये खबर सच नहीं है

आउटलुक टीम - JUN 11 , 2019
केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने राज्यपाल बनने की दी बधाई तो सुषमा ने कहा- ये खबर सच नहीं है
सुषमा स्वराज ने दी सफाई- आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनाने की खबर गलत
File Photo
आउटलुक टीम

पिछले काफी समय से पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज के आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने की खबरें सुर्खियां बटोर रही थीं। लेकिन इन खबरों पर उस वक्त विराम लग गया जब खुद सुषमा स्वराज ने इस खबर को गलत बता दिया। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर सफाई दी है। इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ट्वीट कर सुषमा स्वराज को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने पर बधाई दी थी।

हर्षवर्धन के ट्वीट के करीब एक घंटे बाद सुषमा स्वराज ने अपने ट्विटर अकाउंट से राज्यपाल बनाए जाने की खबरों को गलत बताया। ट्वीट में सुषमा ने लिखा, 'मुझे आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने वाली खबरें सच नहीं हैं।'

हर्षवर्धन ने दी थी सुषमा को बधाई

दरअसल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के एक ट्वीट से सस्पेंस पैदा हो गया था, जिसमें उन्होंने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनने की बधाई दी थी। हालांकि बाद में उन्होंने यह ट्वीट डिलीट कर दिया था. जिससे अटकलों का बाजार और गर्म हो गया था। हर्षवर्धन ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'भाजपा की वरिष्ठ नेता और मेरी दीदी पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बनने पर बहुत बधाई और शुभकामनाएं। सभी क्षेत्रों में आपके लंबे अनुभव से प्रदेश की जनता लाभान्वित होगी'।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ हर्षवर्धन का ट्वीट

हालांकि जब तक हर्षवर्धन ने ट्वीट डिलीट किया, यह सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका था, लेकिन सुषमा स्वराज की सफाई के बाद अब यह तो साफ हो गया है कि स्वराज को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल नहीं बनाया गया है।

इस बार चुनाव नहीं लड़ीं सुषमा स्वराज

बता दें कि इस बार के आम चुनाव में सुषमा स्वराज ने चुनाव नहीं लड़ा था। वहीं मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सुषमा को कोई पद नहीं दिया गया। हालांकि मोदी सरकार के पहले पांच सालों के दौरान सुषमा विदेश मंत्री के पद पर अपनी सेवाएं दे चुकी हैं। इस बार के आम चुनाव के लिए सुषमा का कहना था कि खराब सेहत उन्हें चुनाव प्रचार और चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं देता है।

पिछले ही साल सुषमा स्वराज ने कहा था कि वह भले ही 2019 का लोकसभा चुनाव न लड़ें, लेकिन वह राजनीति में सक्रिय रहेंगी। एक ट्वीट के जवाब में उन्होंने लिखा था कि मैं राजनीति से रिटायर नहीं हो रही हूं. सिर्फ स्वास्थ्य कारणों से 2019 का चुनाव नहीं लड़ने का निर्णय लिया है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से