Home राजनीति राष्ट्रीय दल '...तेरी महफिल में हम न होंगे', शत्रुघ्न सिन्हा ने इशारों में दिए बीजेपी छोड़ने के संकेत

'...तेरी महफिल में हम न होंगे', शत्रुघ्न सिन्हा ने इशारों में दिए बीजेपी छोड़ने के संकेत

आउटलुक टीम - MAR 15 , 2019
'...तेरी महफिल में हम न होंगे', शत्रुघ्न सिन्हा ने इशारों में दिए बीजेपी छोड़ने के संकेत
बिहार के पटना साहिब से भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा
File Photo
आउटलुक टीम

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में रहकर अपनी ही पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अक्सर बयानबाजी करने वाले शत्रुघ्न सिन्हा ने इशारों-इशारों में पार्टी छोड़ने की बात कह डाली है। बिहार के पटना साहिब से भाजपा सांसद सिन्हा ने शायराना अंदाज में कहा कि मोहब्बत करने वाले कम न होंगे, (शायद) तेरी महफिल में लेकिन हम न होंगे।  

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले शत्रुघ्न सिन्हा ने शुक्रवार को ट्विटर पर शायराना अंदाज में ट्वीट कर इशारों ही इशारों में कई बातें कह डालीं। उन्होंने लिखा सर, राष्ट्र आपका सम्मान करता है, पर नेतृत्व में विश्वसनीयता और विश्वास की कमी है। नेतृत्व जो कर रही है और कह रही है, क्या लोग उस पर विश्वास कर रहे हैं? शायद नहीं।

'जनता से किए गए वादे अभी भी पूरे होने बाकी हैं

अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'जनता से किए गए वादे अभी भी पूरे होने बाकी हैं। जो अब पूरा हो भी नहीं पाएंगे। आशा, इच्छा और प्रार्थना, हालांकि मैं अब आपके साथ नहीं रह सकता। मोहब्बत करने वाले कम न होंगे, (शायद) तेरी महफिल में लेकिन हम न होंगे।'

पीएम मोदी पर किया था कटाक्ष

इससे पहले गुरूवार को शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अब एक नए बेहतर नेतृत्व को कार्यभार संभालना चाहिए। भाजपा सांसद सिन्हा ने ट्वीटर के जरिए मोदी के पांच साल के कार्यकाल में एक भी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करने पर उन पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘अब तिथियों ‘लोकसभा चुनाव’ की घोषणा हो गई है। सर अब तो कम से कम एक प्रेस कांफ्रेंस कर दीजिए। एक भी स्वतंत्र और निष्पक्ष प्रेस कांफ्रेंस नहीं की गई। आप इतिहास पर नजर डालें तो ऐसे एकमात्र पीएम हैं आप।

ममता की रैली में शामिल हुए थे शत्रुघ्न

शत्रुघ्न सिन्हा अक्सर बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयानबाजी करते रहते हैं। उनके बगावती सुरों को देखते हुए माना जा रहा था कि इस बार लोकसभा चुनाव में शायद बीजेपी से उन्हें टिकट न मिले। हाल ही में उन्होंने राफेल डील में फाइल चोरी होने के मामले में भी मोदी सरकार पर हमला बोला था। यही नहीं शत्रुघ्न सिन्हा जनवरी में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की विपक्ष की रैली में भी शामिल हुए थे।

राबड़ी देवी से की थी मुलाकात

पिछले दिनों शत्रुघ्न सिन्हा पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की थी। दोनों के बीच करीब डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई। वहां से निकलने के बाद पत्रकारों से मुखातिब सिन्हा ने भाजपा छोड़ने के बाबत पूछे जाने पर कहा, “अब तो घड़ी नजदीक ही आ रही है। इंतजार कीजिए, परिणाम मिलेंगे और अच्छे मिलेंगे।”

जाहिर की थी पटना साहिब से चुनाव लड़ने की इच्छा

इसके बाद बीजेपी प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी ने भी शत्रुघ्न सिन्हा का नाम लिए बिना कार्रवाई करने की बात कही थी। पिछले दिनों शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा था कि परिस्थिति चाहे जैसी हो लेकिन वह आने वाले लोकसभा चुनाव में अपनी संसदीय सीट नहीं बदलेंगे। शत्रुघ्न की बिहार में 2015 विधानसभा चुनाव के बाद से बीजेपी नेताओं के साथ कई मुद्दों के लेकर खींचतान चल रही है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से