Home राजनीति राष्ट्रीय दल प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी पर साधा निशाना, कहा- जूते बांटकर किया अमेठी की जनता का अपमान

प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी पर साधा निशाना, कहा- जूते बांटकर किया अमेठी की जनता का अपमान

आउटलुक टीम - APR 22 , 2019
प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी पर साधा निशाना, कहा- जूते बांटकर किया अमेठी की जनता का अपमान
प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी पर साधा निशाना, कहा- जूते बांटकर किया अमेठी की जनता का अपमान
ANI
आउटलुक टीम

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अमेठी लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार और और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधा है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि जूते बांटकर स्मृति ईरानी ने अमेठी की जनता का अपमान किया है।

प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं से कहा, 'स्मृति ईरानी लोगों से झूठ कह रही हैं कि राहुल अमेठी नहीं आते। यहां के लोगों को सारी सच्चाई पता है। लोग जानते हैं कि किसके दिल में अमेठी है और किसके दिल में नहीं।'

'किसी के सामने भीख नहीं मांगते'

कांग्रेस महासचिव ने कहा, 'स्मृति ईरानी ने लोगों को जूते बांटे, यह कहने के लिए कि अमेठी के लोगों के पास जूते भी नहीं हैं पहनने के लिए। वह सोच रही हैं कि ऐसा करके वह राहुल गांधी का अपमान कर रही हैं। असल में वह अमेठी का अपमान कर रही हैं। अमेठी और रायबरेली की जनता ने कभी किसी से भीख नहीं मांगी।'

प्रियंका ने कहा कि आप इनको सिखाइए कि अमेठी और रायबरेली के लोग अपना सम्मान करते हैं, किसी के सामने भीख नहीं मांगते। भीख मांगना है तो वो लोग खुद आपसे वोटों की भीख मांगें। स्मृति ईरानी ने जूते बांटकर अमेठी की जनता का अपमान किया है।

'पीएम नहीं गए वाराणसी के एक गांव'

प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, ’मैं वाराणसी में गई, प्रधानमंत्री जी 5 साल में, एक गांव में हालचाल पूछने नहीं गए हैं, मुख्यमंत्री जी दलितों के गांव में जाने से पहले हाथ मुंह धुलवाते हैं।‘

स्मृति ईरानी ने किया पलटवार

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पलटवार करते हुए कहा है कि एक्टर मैं रह चुकी हूं इसलिए प्रियंका एक्टिंग न करें तो बेहतर है, जहां तक उन गरीब नागरिकों की बात है जिनके पैरों में जूते नही हैं तो मैं यही कहना चाहूंगी कि अगर प्रियंका गांधी में जरा सी भी शर्म बाकी है तो वह खुद जाकर देख लें कि सच क्या है?

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से