Home राजनीति राष्ट्रीय दल अनिल अंबानी को 10 दिन पहले कैसे पता थी डील की बात, राफेल पर राहुल ने पीएम से पूछा सवाल

अनिल अंबानी को 10 दिन पहले कैसे पता थी डील की बात, राफेल पर राहुल ने पीएम से पूछा सवाल

आउटलुक टीम - FEB 12 , 2019
अनिल अंबानी को 10 दिन पहले कैसे पता थी डील की बात, राफेल पर राहुल ने पीएम से पूछा सवाल
अनिल अंबानी को 10 दिन पहले कैसे पता थी डील की बात, राफेल पर राहुल ने पीएम से पूछा सवाल
twitter

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे को लेकर एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। मंगलवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राहुल गांधी ने राफेल डील पर एक लीक ईमेल का हवाला देते हुए पीएम मोदी पर गोपनीयता कानून उल्लंघन का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि एयरबस कंपनी के एक कर्मचारी ने ईमेल लिखा है कि फ्रांस के डिफेंस मिनिस्टर के ऑफिस में अनिल अंबानी ने 10 दिन पहले ही डील होने का ऐलान कर दिया था। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी पर अब भ्रष्टाचार का ही नहीं, बल्कि ऑफि‌शियल सीक्रेट एक्ट के उल्लंघन के भी आरोप हैं।

उन्होंने कहा, 'एयरबस कंपनी के एग्‍जेक्‍यूटिव ने ईमेल में लिखा है कि फ्रांस के रक्षा मंत्री के ऑफिस में अनिल अंबानी गए थे। बैठक में अंबानी ने कहा था कि जब प्रधानमंत्री आएंगे तो एक एमओयू साइन होगा, जिसमें अनिल अंबानी का नाम होगा। यानी राफेल डील में। इसके बारे में न तो भारत के तत्कालीन रक्षा मंत्री को मालूम था, न ही एचएएल को न ही विदेश मंत्री को। लेकिन राफेल डील से 10 दिन पहले अनिल अंबानी को इस डील के बारे में मालूम था।

प्रधानमंत्री को जेल भेजा जाना चाहिए

राहुल ने कहा कि इसका मतलब है कि प्रधानमंत्री अनिल अंबानी के मिडिलमैन की तरह काम कर रहे थे। सिर्फ इसी आधार पर टॉप सीक्रेट को किसी के साथ शेयर करने को लेकर प्रधानमंत्री पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए। उन्हें जेल भेजना चाहिए। यह देशद्रोह का मामला है। राहुल ने आगे कहा कि इस मुद्दे से तीन बातें जुड़ी हैं। ये हैं- करप्शन, प्रोसीजर और देशद्रोह। उन्होंने कहा कि इन तीन मामलों में कोई नहीं बचेगा।

सीएजी रिपोर्ट चौकीदार ऑडिटर जनरल रिपोर्ट है

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर कार्रवाई की मांग करते हुए यह भी कहा कि कैग रिपोर्ट बेमानी है। उन्होंने कहा, 'डील से जुड़े सीक्रेट साझा करने के लिए प्रधानमंत्री को जेल जाना चाहिए। सीएजी रिपोर्ट चौकीदार ऑडिटर जनरल रिपोर्ट है। यह मोदी की रिपोर्ट है जिसे चौकीदार ने बनाई, चौकीदार के लिए बनाई। सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने कैग रिपोर्ट का हवाला दिया था, लेकिन कैग रिपोर्ट तब थी ही नहीं। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में भी झूठ बोला।'

हम किसी जांच से नहीं घबराते

राहुल ने कहा कि विपक्ष के जितने नेता हैं उन पर जितनी मर्जी जांच होनी चाहिए, लेकिन राफेल मामले की भी जांच हो। उन्होंने कहा, 'पीएम मोदी जेपीसी बिठा दो क्यों घबरा रहे हो क्योंकि आप शामिल हैं। हमारे ऊपर जो जांच करानी है कर लो। हम किसी जांच से नहीं घबराते, मोदी जी जांच से डर रहे हैं। 

राहुल गांधी लॉबिंग कर रहे: भाजपा 

राफेल डील पर राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस के कुछ ही देर बाद भाजपा ने पलटवार कर कांग्रेस अध्यक्ष की नीयत पर सवाल उठाए। बीजेपी की तरफ से मोर्चा रविशंकर प्रसाद ने संभाला और कांग्रेस के आरोपों को झूठ और बेशर्मी बताया। उन्होंने राहुल गांधी पर ही प्रतिस्पर्धी एयरक्राफ्ट कंपनियों के लिए लॉबीइंग करने का आरोप लगाया। बीजेपी नेता ने एयरबस कंपनी की विश्वसनीयता भी संदिग्ध बताई। 

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बेहद तल्खी से आरोपों पर जवाब दिए और कांग्रेस अध्यक्ष से अपना अतीत देखने की बात कही। प्रसाद ने कहा, 'राहुल गांधी प्रतिस्पर्धी एयरक्राफ्ट कंपनी के लॉबिस्ट की तरह काम कर रहे हैं। उन्हें एयरबस के ईमेल की जानकारी कहां से मिल गई? एयरबस से यूपीए सरकार के दौरान जो डील हुई थी, फिलहाल तो वही संदेह के घेरे में है। ईमेल हेलीकॉप्टर के लिए था। एयरबस पर तो खुद ही दलाली के लिए जांच हो रही है।'

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से