Home राजनीति राष्ट्रीय दल केजरीवाल के जवाब में भाजपा विधायक भी बैठे धरने पर

केजरीवाल के जवाब में भाजपा विधायक भी बैठे धरने पर

आउटलुक टीम - JUN 13 , 2018
केजरीवाल के जवाब में भाजपा विधायक भी बैठे धरने पर
केजरीवाल को काम पर वापस लाने के लिए भाजपा विधायक भी बैठे धरने पर

उपराज्यपाल निवास पर डटे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के जवाब में भाजपा विधायकों ने भी केजरीवाल के निवास पर धरना शुरू कर दिया है। भाजपा नेताओं का कहना है कि मुख्यमंत्री  केजरीवाल को काम पर वापस लाने के लिए वह धरना दे रहे हैं।

दिल्ली विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजेंदर गुप्ता के नेतृत्व में भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा, विधायक मनिंदर सिरसा, विधायक जगदीश प्रधान दिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री के वेटिंग रूम में धरने पर बैठ गए हैं। उनके साथ आम आदमी पार्टी के विधायक कपिल मिश्रा भी धरने पर बैठे हैं।

भाजपा विधायक मनजिंदर सिरसा ने फोटो ट्वीट करते हुए लिखा कि केजरीवाल को नौटंकी बंद करनी चाहिए और काम पर वापस आना चाहिए। उन्होंने लिखा कि जब तक दिल्ली सीएम वापस आकर जनता को पानी नहीं देंगे, हम सीएम ऑफिस में धरने पर बैठें हैं। पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर कहा कि वह तीन मुख्य मांगों को लेकर धरने पर बैठे हैं। केजरीवाल उपराज्यपाल निवास में अपना धरना खत्म करें। वह अपने काम पर वापस लौटे और दिल्ली की जनता की पानी की समस्या को खत्म किया जाए।

इससे पहले दिल्ली सचिवालय में धरने पर बैठे भाजपा विधायकों पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा विधायकों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उपराज्यपाल अनिल बैजल से अनुरोध करने चाहिए कि आईएएस अफसरों का गतिरोध खत्म होना चाहिए।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पिछले तीन दिनों से उपराज्यपाल निवास में धरने पर बैठे हैं। उनके साथ मंत्री सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। केजरीवाल अपने तीन मंत्रियों के साथ सोमवार शाम पांच बजे उपराज्यपाल से मिलने पहुंचे थे और मांगें पूरी न होने पर उसके बाद से वह अपने मंत्रियों के साथ धरने पर बैठे हुए हैं। मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भूख हड़ताल शुरू की थी जिसके बाद बुधवार को मनीष सिसोदिया ने भी अनशन शुरू कर दिया है। उनकी मांग है कि उपराज्यपाल आईएएस अफसरों की गैरकानूनी हड़ताल तुरंत खत्म कराएं क्योंकि वो सर्विस विभाग के मुखिया हैं। काम रोकने वाले आईएएस अफसरों के खिलाफ सख्त एक्शन लें। राशन की डोर-स्टेप-डिलीवरी की योजना को मंजूर करें।

अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री लगातार ट्वीट कर उपराज्यपाल अनिल बैजल से मिलने की गुहार कर रहे हैं और अपनी मांगें पूरी करने की अपील कर रहे हैं। इसके बावजूद उपराज्यपाल ने भी तक इस मसले पर कोई कदम नहीं उठाया है।

उधर, आम आदमी पार्टी ने बुधवार शाम चार बजे केजरीवाल के आवास से उपराज्यपाल निवास तक मार्च निकालने की घोषणा की है। पार्टी की ओर से ट्विटर पर वीडियो संदेश में दिल्ली की जनता से इस विरोध मार्च में शामिल होने की अपील की गई है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से