Home राजनीति राष्ट्रीय दल टीएमसी का भाजपा पर आरोप, अमित शाह पश्चिम बंगाल के बाहर से लाए गुंडे

टीएमसी का भाजपा पर आरोप, अमित शाह पश्चिम बंगाल के बाहर से लाए गुंडे

आउटलुक टीम - MAY 15 , 2019
टीएमसी का भाजपा पर आरोप, अमित शाह पश्चिम बंगाल के बाहर से लाए गुंडे
टीएमसी का भाजपा पर पलटवार, डेरेक ओ ब्रायन ने कहा- अमित शाह बंगाल के बाहर से लाए गुंडे
ANI
आउटलुक टीम

कोलकाता में हुई हिंसा पर अमित शाह के आरोपों के बाद तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने पलटवार किया है। टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बंगाल में बाहर से गुंडे लाए थे। ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति भाजपा ने तोड़ी।

डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि भाजपा नेता तेजेंद्र पाल सिंह बग्गा को गिरफ्तार किया गया है। यह वो ही हैं जिन्होंने दिल्ली में किसी को थप्पड़ मारा था। उन्होंने कहा कि हमारे पास सबूत के तौर पर दो तस्वीरें हैं, इसका संबंध चुनाव से है। हमारी केंद्रीय सुरक्षाबलों के साथ व्यक्तिगत रंजिश नहीं है। हम लोगों के पास दो चौंकाने वाली फोटो हैं जिससे साबित होता है कि बंगाल में केंद्रीय सुरक्षा बल भाजपा के साथ हैं।

साबित कर दें तो छोड़ दूंगा राजनीतिः बग्गा

वहीं, भाजपा नेता तेजेंद्र पाल सिंह बग्गा ने कहा कि डेरेक ओ ब्रायन को कोई भी गंभीरता से नहीं लेता है। मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि अगर वह साबित कर सके कि मैं उस जगह से 500 मीटर अंदर था, जहां हिंसा भड़की। मैं राजनीति छोड़ दूंगा अगर मैं गलत साबित हो जाऊं या फिर उन्हें आरोप साबित न कर पाने पर उन्हें राजनीति छोड़ देनी चाहिए।

भाजपा अध्यक्ष ने ये लगाया था आरोप

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा के लिए राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए बुधवार को आरोप लगाया था कि चुनाव आयोग मूक दर्शक बना हुआ है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को जब कोलकाता में उनके काफिले पर कथित हमला किया गया तब वह सीआरपीएफ की सुरक्षा के बिना, सकुशल बच कर नहीं निकल पाते।

अमित शाह ने कहा कि अब तक चुनाव के 6  चरण समाप्त हो चुके हैं और इनमें सिवाय बंगाल के कहीं भी हिंसा नहीं हुई। उन्होंने कहा कि मैं ममता जी को बताना चाहता हूं कि आप सिर्फ 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं और भाजपा देश के सभी राज्यों में चुनाव लड़ रही है। कहीं पर भी हिंसा नहीं हुई, लेकिन बंगाल में हर चरण में हिंसा हुई। साफ है कि इसके पीछे टीएमसी का हाथ है।

रैली में हुआ था बवाल

कोलकाता में मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दौरान भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई थी। यहां आगजनी और पत्थरबाजी भी हुई थी। जब अमित शाह का काफिला विद्यासागर कॉलेज के पास से गुजर रहा था तो टीएमसी कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाने शुरू कर दिए। भाजपा कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध किया जो बाद में झड़प में बदल गया। इस टकराव में कई कार्यकर्ता घायल हो गए। इस दौरान कुछ दोपहिया वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया। पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से