Home » राजनीति » राष्ट्रीय दल » योगेंद्र यादव के समर्थन में आए कांग्रेस के नेता, आयकर छापेमारी पर उठाए सवाल

योगेंद्र यादव के समर्थन में आए कांग्रेस के नेता, आयकर छापेमारी पर उठाए सवाल

JUL 12 , 2018

स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव से जुड़े अस्पताल परिसरों में आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर हलचल तेज है। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा उनके परिवार और रिश्तेदारों को परेशान करने का आरोप लगाया है। इसे लेकर विपक्ष भी उनके बचाव में उतरा आया है। कांग्रेस के कई नेताओं ने इस कार्रवाई को बदले की भावना से प्रेरित करार दिया है।

बुधवार को आयकर विभाग ने हरियाणा के रेवाड़ी में योगेंद्र यादव से जुड़े एक अस्पताल समूह के कई परिसरों से लगभग 22 लाख रुपये नकद बरामद किये हैं। आरोप है कि अस्पताल समूह ने गहने खरीदने के लिए नीरव मोदी की फर्म को नकद भुगतान किया था। इधर, योगेन्द्र यादव ने ट्वीट कर कहा कि बौखलाई मोदी सरकार अब उनके परिवार के पीछे पड़ी है। योगेन्द्र यादव ने ट्वीट कर कहा था, “मेरी सूचना के अनुसार आज (बुधवार) सुबह 11 बजे दिल्ली से इनकम टैक्स और गुडगांव पुलिस के 100 लोगो ने रेवाड़ी और कलावती और कमला नर्सिंग होम पर छापा मारा। डॉक्टरों को केबिन में बंद किया है, अस्पताल (जिसमे नवजात बच्चों का ICU भी है) सील कर दिया है, धमकाने की कोशिश जारी है।”

उन्होंने आरोप लगाया, “परसों मेरी रेवाड़ी की पदयात्रा पूरी हुई, एमएसपी  और ठेका बंदी का आंदोलन शुरू हुआ। आज सुबह रेवाड़ी में मेरी बहन, जीजा और भांजे के हस्पताल और नर्सिंग होम पर आईटी रेड। मोदी जी, मेरी जांच करो, मेरे घर रेड करो, परिवार को क्यों तंग करते हो?”

कांग्रेस का तंज- बदला-बदली की सरकार

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि राजनीतिक मतभेद अलग बात है, लेकिन आयकर छापे के माध्यम से योगेंद्र यादव के परिवार को डराना वास्तव में शर्मनाक और गलत है। क्या मोदी सरकार और आयकर विभाग जवाब देंगे कि नीरव मोदी की कंपनी से 20 लाख रूपये के आभूषण खरीदने के लिए कितने लोगों के यहां छापेमारी की गई है?

कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने छापेमारी की निंदा करते हुए इसे बदले की कार्रवाई बताया। उन्होंने कहा, ''मैं भाजपा सरकार के द्वारा बदले की कार्रवाई की निंदा करता हूं। मेरे लिए योगेंद्र यादव अलग पार्टी के नेता अवश्य हैं लेकिन मैंने उनके परिवार के बारे में अच्छा सुना है। यह बदला, बदली की सरकार है।''


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.