Home राजनीति राष्ट्रीय दल लखीमपुर खीरी हिंसा पर राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, राहुल बोले- अगर पिता मंत्री है तो निष्पक्ष जांच कैसे होगी

लखीमपुर खीरी हिंसा पर राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, राहुल बोले- अगर पिता मंत्री है तो निष्पक्ष जांच कैसे होगी

आउटलुक टीम - OCT 13 , 2021
लखीमपुर खीरी हिंसा पर राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, राहुल बोले- अगर पिता मंत्री है तो निष्पक्ष जांच कैसे होगी

PTI
आउटलुक टीम

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। इसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि पीड़ित चाहते हैं कि उन्हें इंसाफ मिले। वहीं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की गई है।

राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी में पीड़ित परिवारों कि मांग है कि जिसने भी उनके बेटे की हत्या करी उसे सज़ा मिले और यह भी कहा कि जिस व्यक्ती ने हत्या की उसके पिता देश के गृह राज्य मंत्री हैं। जब तक वह अपने पद पर हैं तब तक न्याय नहीं मिलेगा। ये बात हमने राष्ट्रपति को बताई है।

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति ने हमको आश्वासन दिया है कि वह आज इस मामले पर सरकार के साथ चर्चा करेंगें। उनकी (केंद्रीय गृह राज्य मंत्री) बर्खास्तगी की मांग कांग्रेस की मांग नहीं है, हमारे साथियों की मांग नहीं है, यह जनता की मांग है और पीड़ित किसान परिवारों की मांग है।

कांग्रेस के पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, वरिष्ठ नेता एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी शामिल हैं।

वहीं, लखीमपुर हिंसा मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग की है। राकेश टिकैत का कहना है कि जबतक अजय मिश्रा अपने पद पर बने रहेंगे तबतक निष्पक्ष जांच होना संभव नहीं है। वहीं, इस्तीफा ना देने पर उन्होंने आंदोलन करने की बात कही है। 

लखीमपुर खीरी में राकेश टिकैत ने कहा, “अगर केंद्रीय मंत्री का इस्तीफा नहीं होगा तो यहां से आंदोलन की घोषणा करेंगे। इसको लेकर लखनऊ में बड़ी पंचायत होगी।” लखीमपुर मामले में राकेश टिकैत ने अपनी योजना को लेकर बताया कि हिंसा में मारे गए किसानों के अस्थि कलश देश के हर ज़िले में जाएंगे और लोग उन्हें श्रद्धांजलि देंगे।

इससे पहले सोमवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने लखीमपुर खीरी मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ को बर्खास्त करने की मांग को लेकर ‘मौन धरना’ दिया। केंद्रीय मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा हिंसा के मामले के आरोपी हैं।

बता दें कि पिछले रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध करने के दौरान हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। युपी पुलिस ने अजय मिश्रा के बेटे आशीष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है तथा पुलिस को आशीष मिश्रा का तीन दिन का रिमांड मिला है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से