Home राजनीति राष्ट्रीय दल ‘हाउडी मोदी’ पर चिदंबरम का तंज- बेरोजगारी, भीड़ हिंसा, कश्मीर को छोड़कर भारत में सब अच्छा है

‘हाउडी मोदी’ पर चिदंबरम का तंज- बेरोजगारी, भीड़ हिंसा, कश्मीर को छोड़कर भारत में सब अच्छा है

आउटलुक टीम - SEP 23 , 2019
‘हाउडी मोदी’ पर चिदंबरम का तंज- बेरोजगारी, भीड़ हिंसा, कश्मीर को छोड़कर भारत में सब अच्छा है
‘हाउडी मोदी’ पर चिदंबरम का तंज- बेरोजगारी, भीड़ हिंसा, कश्मीर को छोड़कर भारत में सब अच्छा है
File Photo
आउटलुक टीम

आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने जेल से ही ‘हाउडी मोदी’ के बहाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से तिहाड़ जेल में मुलाकात के बाद सोमवार को चिदंबरम ने कहा कि बेरोजगारी के अलावा भारत में सब अच्छा है।

हाउडी मोदी कार्यक्रम को लेकर चिदंबरम का मोदी पर तंज

चिदंबरम ने सोमवार को अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी के हाउडी मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि नौकरियों पर संकट, मॉब लिंचिंग, कश्मीर में तालाबंदी, विपक्षी नेताओं को जेल में डालना और कम वेतन छोड़कर भारत में सब अच्छा है। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को 50 हजार अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करते हुए 'हाउडी मोदी' के जवाब में कहा था कि भारत में सब कुछ ठीक है।

इस बीच कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सोमवार को पी चिदंबरम से तिहाड़ में मिलने के लिए तिहाड़ पहुंचे थे। उन्‍होंने जेल में आकर मिलने के लिए सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह को धन्‍यवाद भी दिया। इससे पहले पी चिदंबरम के बेटे और कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने भी तिहाड़ जेल जाकर अपने पिता से मुलाकात की।

जानें क्या कहा था पीएम मोदी ने 

पीएम मोदी ने ‘हाउडी मोदी’ का मतलब कई अन्य भाषाओं में व्यक्त करने की कोशिश की। भारत में भाषाओं की विविधता पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, सब चंगे सी, मजामा छे, एलम सौकियाम, सब खूब भालो, सबू भाल्लाछी।

ह्यूस्टन में राष्ट्रपति ट्रंप की मौजूदगी में अमेरिकी नागरिकों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, मेरे अमेरिकी मित्र इससे आश्चर्यचकित हैं कि मैंने क्या कह दिया। प्रेसिडेंट ट्रंप और मेरे अमेरिकी मित्रों, मैंने भारतीय भाषाओं में सिर्फ यह कहा है कि सब कुछ ठीक है।

चिदंबरम पर ये हैं आरोप

चिदंबरम पर आरोप है कि उन्होंने वित्त मंत्री के पद पर रहते साल 2007 में रिश्वत लेकर आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपये लेने के लिए विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड से मंजूरी दिलाई थी। इस मामले में चिदंबरम सीबीआई और ईडी की जांच का सामना कर रहे हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से