Home राजनीति राष्ट्रीय दल जब बेटे आकाश के सवाल पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, न्यूज एंकर से कहा- आपकी औकात क्या है?

जब बेटे आकाश के सवाल पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, न्यूज एंकर से कहा- आपकी औकात क्या है?

आउटलुक टीम - JUN 28 , 2019
जब बेटे आकाश के सवाल पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, न्यूज एंकर से कहा- आपकी औकात क्या है?
जब बेटे आकाश के सवाल पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, न्यूज एंकर से कहा- आपकी औकात क्या है?
File Photo
आउटलुक टीम

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और बीजेपी विधायक ने बुधवार को इंदौर के नगरनिगम के अधिकारी को क्रिकेट के बैट से पीटने का मामला सामने आया। घटना के दौरान वहां पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया। विपक्ष घटना की निंदा कर रहा है। इस घटना के बाद आकाश विजयवरिगीय की गिरफ्तारी भी हो गई है। लेकिन इस बीच पश्चिम बंगाल के बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय अपने बेटे का बचाव करते देखे गए। इस घटना को लेकर जब एक न्यूज़ एंकर ने कैलाश विजयवर्गीय से सवाल पूछा तो वह एंकर पर ही भड़क उठे। उन्होंने पत्रकार से कहा कि तुम्हारी औकात क्या है?

दरअसल, न्यूज 24 इंडिया के एंकर इस घटना के बारे में चर्चा कर रहे थे और उस समय कैलाश विजयवर्गीय फोन लाइन पर मौजूद थे। जब एंकर ने उनसे पूछा कि क्या एक विधायक को कानून अपने हाथ में लेना चाहिए, क्या ऐसा करना सही है। इतने में विजयवर्गीय ने अपना आपा खो दिया और कहा कि आपकी हैसियत क्या है और आपकी औकात क्या है? आप फैसला करेंगे किसी विधायक के बारे में। पहले अपनी औकात देखिए। इतना कहने के बाद उन्होंने फोन काट दिया।

यहां सुनें एकंर और कैलाश विजयवर्गीय के बीच क्या हुई बातचीत

बेटे की गुंडागर्दी पर सवाल पूछा तो न्यूज़ 24 के ऐंकर से बोले कैलाश विजयवर्गीय - तुम्हारी औक़ात क्या है?” pic.twitter.com/d3EJKYfsga

— Manak Gupta (@manakgupta) June 26, 2019

भाजपा महासचिव के बेटे के वायरल हुए वीडियो में यह साफ देखा जा रहा है कि किस तरह आकाश विजयवर्गीय नगर निगम ऑफिसर के साथ बदसलूकी कर उसकी बल्ले से पिटाई कर रहे हैं। यह वीडियो इंटरनेट पर काफी वायरल हो गया।

यहां देखें वीडियो-

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रभारी है और पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा पर तमाम टीवी चैनलों पर डिबेट करते दिखते हैं लेकिन जब बात अपने बेटे की आई तो वह खुद भूल गए कि नेता का चुनाव लोगों द्वारा, लोगों का काम करने के लिए किया जाता है। कैलाश विजयवर्गीय का व्यवहार अपने आप में कई सवाल खड़े करता है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से